ट्रंप ने रोकी मदद तो पाक ने तरेरी आंखें, बोला- यह खैरात नहीं हमारा अपना  पैसा

इस्लामाबादः पाकिस्तान द्वारा आतंकियों के लिए बरती जा रही नरमी पर अमरीका द्वारा वित्तीय मदद रद्द किए जाने के बाद पाक ने आंखें तरेरते इसे 'अपना पैसा' बताया है। आतंकियों की सुरक्षित पनाहगाह बन चुके पाक ने कहा है कि यह कोई खैरात या सहायता नहीं है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री एसएम कुरैशी ने मुस्कुराते हुए कहा, 'ये जो 300 मिलियन डॉलर है, ये  न मदद थी और न खैरात है। हकीकत यह है कि यह पैसा कोलिशन सपॉर्ट फंड के तौर पर आता है।' 

पाक मंत्री ने रविवार शाम को कहा कि ये वो पैसा है जो पाकिस्तान ने अपने संसाधनों से खर्च किया है और अमेरिका को इसे हमें लौटाना था। उन्होंने जोर देकर कहा है कि यह हमारा पैसा है और हमने खर्च किया है। कुरैशी ने तर्क रखते हुए कहा कि आतंकवाद के खिलाफ जंग में हमारे साझा उद्देश्य हैं और इसकी बेहतरी के लिए पाकिस्तान ने योगदान किया है और जानमाल की कुर्बानी भी दी है। 

इमरान सरकार के मंत्री ने कहा कि  यह पैसा अमरीका द्वारा पाकिस्तान को लौटाया जाना था, जो उन्होंने नहीं दिया है। पाकिस्तान की पिछली सरकार पर निशाना साधते हुए इमरान खान के मंत्री ने आगे कहा कि यह आज नहीं हुआ बल्कि पाकिस्तान की इस हुकूमत के आने से पहले ही अमरीकी सरकार ने जितनी भी सुरक्षा मदद थी, उसे बंद कर दिया था। 
 

Related Stories:

RELATED मणिपुर में महसूस किए गए भूकंप के झटके