पाक में जबरन धर्मांतरण की शिकार नाबालिग हिंदू बहनें पहुंची अदालत, 7 गिरफ्तार

पेशावरः पाकिस्तान में दो नाबालिग हिन्दू लड़कियों की शादी कराने में कथित मदद करने के आरोप में कम से कम 7 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इन किशोरियों ने पंजाब प्रांत की अदालत का रूख कर संरक्षण देने का अनुरोध किया। खबरों के अनुसार, इन लड़कियों को अगवा करके जबरन इस्लाम में धर्मांतरित कराया गया है। बता दें कि होली के मौके पर सिंध प्रांत के घोटकी जिले से रवीना (13) और रीना (15) को ‘रसूखदार’ लोगों ने कथित रूप से अगवा कर लिया था।



उनके अपहरण के कुछ वक्त बाद ही, एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें एक काकाी कथित रूप से दोनों का निकाह (शादी) करा रहा था। इसने देश भर में गुस्से का माहौल पैदा कर दिया। प्रधानमंत्री इमरान खान ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। जियो टीवी के मुताबिक, नाबालिग लड़कियों ने पंजाब के बहावलपुर की एक अदालत का रूख कर संरक्षण देने का अनुरोध किया है। टीवी की खबर में कहा गया है, ‘‘ पुलिस ने खानपुर से एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है।



उस पर शक है कि उसने लड़कियों का निकाह कराने में मदद की है।’’ बहरहाल, अभी इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है कि गिरफ्तार शख्स ही शादी कराने वाला काजी है या नहीं। इससे पहले खबरें थी कि लड़कियों की शादी कराने वाले काजी को सिंध के खानपुर से गिरफ्तार किया गया है। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के प्रतिष्ठित हिन्दू सांसद रमेश कुमार वंकवानी ने कहा कि वह कौमी (नेशनल) असेंबली के अगले सत्र में जबरन धर्मांतरण को खत्म करने की मांग करने वाला एक प्रस्ताव पेश करेंगे। बता दें कि इस मुद्दे पर भारत की विदेश मंत्री व पाक के विदेश मंत्री फवाद चौधरी के बीच ट्वीटर जंग तेज हो गई है।
 

Related Stories:

RELATED पाक में हिंदू लड़कियों के जबरन धर्मांतरण का मामला भड़का, सड़कों पर उतरे लोग