इमीग्रेशन कंपनी के मालिक को फिर भेजा एक दिन के पुलिस रिमांड पर

मोहाली(कुलदीप):लोगों को विदेश भेजने के नाम पर उनके  साथ ठगी मारने के दोषों का सामना कर रहे स्थानीय फेज-3बी2 में  ‘दा वल्र्ड की’ के नाम पर इमीग्रेशन एजैंसी चलाने वाले बलजिंदर सिंह ग्रेवाल (जिसकी ओर से बीते कल स्थानीय अदालत में आत्म समर्पण किया गया था) का पुलिस रिमांड खत्म होने पर मटौर पुलिस द्वारा उसको अदालत में पेश किया। जहां माननीय जज की ओर से उसको आज फिर एक दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है। 

जिक्रयोग्य है कि बलजिंदर सिंह के खिलाफ लोगों से पैसे लेने के बावजूद उनको विदेश न भेजने और उनके पैसे न देने संबंधित दर्जनों मामले दर्ज हैं। वह पिछले काफी समय से पुलिस की गिरफ्त से बचता आ रहा था और बीते कल उसने अदालत में आत्म समर्पण कर दिया था। पुलिस द्वारा उसको अदालत में पेश करने ले जाने मौके उसने पत्रकारों को कहा कि वह बेकसूर है और अपने एक हिस्सेदार द्वारा सभी पैसे रख लिए जाने के कारण आज उसकी यह हालत हुई है। 

उसने कहा कि इस कंपनी का लाइसैंस कुलदीप सिंह गिल के नाम पर और अन्य जिन व्यक्तियों के पैसे देने वाले हैं उन्होंने जब कंपनी को पैसे दिए थे तब यह लाइसैंस कुलदीप गिल के नाम पर ही था, उसने कहा कि बाद में कुलदीप गिल रकम लेकर कंपनी से अलग हो गया और वह फंस गया यह पूछने पर कि यदि ऐसा था तो वह वह इतने समय के लिए फरार क्यों रहा, उसने कहा कि वह कोशिश कर रहा था कि कुलदीप उसको पैसे दे दे जिससे लेने वालों की रकम वापस की जा सके जब कुलदीप ने पैसे दने से इन्कार किया तो उसने आत्म समर्पण कर दिया। 

गिल ने ग्रेवाल के इल्जामों को बेबुनियाद बताया
दूसरी तरफ कुलदीप सिंह गिल ने बलजिंदर सिंह ग्रेवाल के इल्जामों को बेबुनियाद बताया है। इस संबंधित संपर्क करने पर कुलदीप सिंह गिल ने कहा कि बलजिंदर सिंह ग्रेवाल की हरकतों से तंग आकर उसने कई साल पहले यह कंपनी छोड़ दी थी और इस संबंधित उसका ग्रेवाल के साथ अदालत में केस चल रहा है। उन्होंने कहा कि ग्रेवाल की ओर से उसके खिलाफ जो इल्जाम लगाए गए हैं वह पूरी तरह बेबुनियाद व झूठे हैं और ग्रेवाल द्वारा उसको बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। 

Related Stories:

RELATED युवकों को लूट कर गायब हुई immigration Company, ठगे लाखों रुपए