रोक के बावजूद अध्यापकों से लिए जा रहे गैर-शैक्षिक काम

अमृतसर (दलजीत):शिक्षा सचिव कृष्ण कुमार के आदेशों के बावजूद पंजाब के ज्यादातर सरकारी स्कूलों के अध्यापकों से गैर-शैक्षिक काम लिए जा रहे हैं। स्कूल प्रमुख सचिव के आदेशों को मामूली जानते हुए अध्यापकों को गैर-शैक्षिक काम न करने की सूरत में देख लेने की धमकियां दे रहे हैं। मुखिया के इस व्यवहार के कारण अध्यापकों में भारी रोष पाया जा रहा है और सचिव के आदेश सिर्फ कागजों तक ही सीमित होकर रह गए हैं। 

 


शिक्षा सचिव कृष्ण कुमार की तरफ से पिछले धार्मिक राज्यों के समूह जिला शिक्षा अधिकारियों को पत्र जारी किया गया था कि विद्याॢथयों की पढ़ाई को मद्देनजर रखते हुए अध्यापकों से लिए जाने वाले गैर शैक्षिक कामों पर रोक लगाई जाती है और गैर शैक्षिक काम सिर्फ कलेरीकल स्टाफ ही करेगा। कृष्ण कुमार के उक्त पत्र के बावजूद पंजाब के कई स्कूल प्रमुख अभी भी अध्यापकों से वजीफे, फंड मैंटीनैंस आदि के काम करवा रहे हैं। स्कूल मुखिया की तरफ से अध्यापकों से करवाए जा रहे फालतू कामों के कारण आने वाले समय में परीक्षा परिणाम में इसका प्रभाव देखने को मिल सकता है।


कई अध्यापकों ने अपना नाम गुप्त रखने की शर्त पर बताया कि उनके स्कूल प्रमुख उनसे गैर शैक्षिक काम करवा रहे हैं और यदि वे इस संबंधी मना करते हैं तो उनको डराया-धमकाया जाता है। 

Related Stories:

RELATED मूल्यांकन कार्य से अनुपस्थित 309 शिक्षकों पर प्राथमिकी