बैंक में खाता खुलवाने पहुंचा था नीरव मोदी, क्लर्क की सतर्कता से दबोचा गया

लंदन: सरकारी बैंक पीएनबी को 13 हजार करोड़ रुपए का चूना लगा कर विदेश भागे उद्योगपति नीरव मोदी के अब गिने चुने दिन ही रह गए हैं। लंदन में पिछले कुछ महीनों से छिप कर रहे नीरव मोदी को स्काटलैंड यार्ड पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। मोदी को कुछ ही घंटे बाद स्थानीय कोर्ट में भी पेश किया गया जहां से उन्हें 29 मार्च, 2019 तक हिरासत में रखने का आदेश दिया गया। दिलचस्प है कि देश के सबसे बड़े बैंकिंग घोटाले का आरोपी हत्थे भी चढ़ा तो एक बैंक से ही।


लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट में सुनवाई के दौरान पता चला कि नीरव मोदी को मेट्रों के एक ब्रान्च से पकड़ा गया। एक सतर्क बैंक अधिकारी की मदद से यह संभव हुआ। नीरव मोदी मंगलवार को बैंक में अपना अकाउंट खुलवाने पहुंचा था। बैंक क्लर्क ने बैंकिंग घोटाले के आरोपी हीरा व्यापारी को पहचान लिया और तुरंत स्कॉटलैंड यार्ड को खबर कर दी। कुछ ही पल में वहां मेट्रोपोलिटिन पुलिस अधिकारी पहुंच गए और नीरव को गिरफ्त में ले लिया। नीरव मोदी को जहां गिरफ्तार किया गया उससे इस बात के संकेत मिलते हैं कि नीरव मोदी वेस्ट एंड के सेंटर पाइंट के उसी आलीशान अपार्टमेंट में रह रहा था जहां उसके होने की आशंका व्यक्त की जा रही थी। 

इस घटनाक्रम को नीरव मोदी को पूछताछ के लिए भारत लाने और इस में शामिल सभी अभियुक्तों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की भारतीय जांच एजेंसियों के प्रयास में एक बड़ी सफलता माना जा रहा है। गौरतलब है कि प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में नीरव मोदी के प्रत्यर्पण के लिए लंदन की एक अदालत में अपील की थी। अदालत ने अपील पर सुनवाई करते हुए मंगलवार को नीरव मोदी के खिलाफ गिरफ्तारी का वॉरंट जारी किया था। 
 

Related Stories:

RELATED आईडीबीआई बैंक ने प्रवासी भारतीयों को ऑनलाइन बैंक खाता खोलने की दी सुविधा