नीरव मोदी ने एक ‘पीले-नारंगी हीरे’ से PNB को लगाया चूना

नई दिल्लीः नीरव मोदी द्वारा पी.एन.बी. में हजारों करोड़ रुपए के घोटाले को अंजाम देने के मामले में अब एक ‘पीले-नारंगी हीरे’ की कहानी सामने आई है जिसके जरिए इस फ्रॉड को अंजाम दिया गया। अमरीका में नीरव मोदी की कंपनियों की जांच में इन तथ्यों का खुलासा हुआ है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक नीरव मोदी ने इस हीरे को दुनिया के अलग-अलग देशों में मौजूद अपनी ही कंपनियों में खरीदा-बेचा और हर बार इसकी कीमत में लाखों डॉलर का उतार-चढ़ाव दिखाया गया। अमरीका में नीरव मोदी की कंपनियों के दिवालिया परीक्षण रिपोर्ट में कहा गया है कि 3 कैरेट के हीरे को 2011 में नीरव मोदी द्वारा कथित तौर पर नियंत्रित 3 शैल कंपनियों में कम से कम 4 बार खरीदा-बेचा गया। अप्रत्यक्ष रूप से मोदी के स्वामित्व वाली 3 अमरीकी ज्यूलरी कंपनियों के दिवालिया परीक्षण केस में जांचकर्ता जॉन जे. कारनी के मुताबिक ताबड़तोड़ खरीदारी प्लान का हिस्सा था जिसके तहत मोदी और उसके सहयोगियों ने एक साल में 4 बिलियन डॉलर उधार लिए। 
 

Related Stories:

RELATED PNB को 4,532 करोड़ रुपए का नुकसान, देश के बैंकिंग इतिहास का सबसे बड़ा घाटा