लोगों में बढ़ रहा कानून हाथ में लेने का गलत रुझान

10/03/2021 3:15:34 AM

एक ओर जहां देश में अपराध बढ़ रहे हैं, वहीं लोगों में कानून हाथ में लेने का गलत रुझान अत्यधिक बढ़ रहा है जो पिछले मात्र 8 दिनों में सामने आई निम्र घटनाओं से स्पष्ट है :

* 22 सितम्बर को उत्तर प्रदेश में मिर्जापुर जिले के ‘मडिहान’ गांव में एक युवक की हत्या कर भाग रहे व्यक्ति को भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला। 
* 22 सितम्बर को मध्य प्रदेश के धार जिले में घर से भागने की सजा के तौर पर एक प्रेमी जोड़े के गले में टायर डाल कर नाचने के लिए मजबूर करने के आरोप में पुलिस ने 5 लोगों के विरुद्ध केस दर्ज करके 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। 
* 22 सितम्बर को वायरल हुए एक वीडियो के अनुसार राजस्थान के कोटा में किसी विवाद के चलते कुछ लोगों ने एक युवक के हाथ-पैर बांध कर उसे पीटने और पेशाब पिलाने के अलावा उसका मोबाइल फोन, पहचान पत्र और लगभग 22,000 रुपए की नकद राशि भी छीन ली।  

* 22 सितम्बर को ही कर्नाटक के कोप्पल जिले के मियापुरा गांव के मंदिर में एक 4 वर्षीय दलित बच्चे के एक मंदिर में प्रवेश करने पर पुजारियों ने मंदिर को सैनीटाइज करने के लिए परिवार पर 25,000 रुपए जुर्माना लगा दिया। इस मामले में पुलिस ने पुजारी सहित 5 लोगों के विरुद्ध एस.सी./एस.टी. एक्ट के अंतर्गत केस दर्ज किया है। 
* 23 सितम्बर को करनाल के सदरपुर गांव में पेड़ों के अवैध कटान के आरोप में एक व्यक्ति को पकड़ने गई पुलिस पर लोगों ने हमला कर दिया। 
* 25 सितम्बर को झारखंड के गुमला जिले के लूटो गांव में लौकी की फसल खराब हो जाने पर एक व्यक्ति ने अपने ही चाचा के परिवार के 3 सदस्यों पर जादू टोना करने का आरोप लगाकर उनकी हत्या कर दी। 

* 25 सितम्बर को आंध्र प्रदेश के हयात नगर में कुछ लोगों ने एक व्यक्ति को उस समय पीट डाला जब वह पैसे न होने के कारण अपनी पत्नी के शव को कंधे पर रख कर अंतिम संस्कार करने के लिए ले जा रहा था।
* 26 सितम्बर को पटियाला के गांव सौजा में खेतों में लगी मोटरों पर प्रीपेड मीटर लगाने आए पावरकाम के एस.डी.ओ. सहित 4 लोगों को गांव वालों ने 6 घंटे तक बंधक बनाए रखा और प्रीपेड मीटर उतार कर पुराने मीटर लगाने पर ही उन्हें छोड़ा। 
* 28 सितम्बर को झारखंड के साहिबगंज जिले के सरकंडा गांव में एक प्रेमी युगल को पकड़ कर लोगों ने युवक को रस्सी से बांध कर और युवती को बालों से खींच कर पीटा तथा घसीटा। 

* 28 सितम्बर को ही बिहार में औरंगाबाद के चपरा गांव में बच्चों के खेल-खेल में हुआ विवाद इतना बढ़ गया कि एक पक्ष ने दूसरे पक्ष के 70 वर्षीय बुजुर्ग को पीट-पीट कर मार डाला।
* 29 सितम्बर को बिहार में सासाराम जिले के कंचनपुर गांव में लोगों ने पत्थर माफिया पर छापा मारने गए वन विभाग के 3 अधिकारियों पर हमला करके उन्हें घायल कर दिया।
* 29 सितम्बर को उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले में एक ‘प्रेमी युगल’ का मुंह काला करके और दोनों को जूते-चप्पलों की माला पहनाकर पूरे गांव में घुमाने के आरोप में 15 लोगों को गिरफ्तार किया गया। 

* 30 सितम्बर को हरिद्वार में लूट के आरोपियों को पकडऩे गई हरियाणा पुलिस की टीम पर अपराधी गिरोह के सदस्यों द्वारा हमला कर देने से एक पुलिस कर्मचारी की मौत हो गई। 
* 30 सितम्बर को झारखंड में दुमका शहर के एक गांव में गांववासियों ने अवैध प्रेम संबंधों के संदेह में एक पुरुष और महिला को लगभग एक किलोमीटर तक निर्वस्त्र करके घुमाया।
* 30 सितम्बर को ही मुम्बई के ‘अंधेरी’ इलाके में एक ट्रैफिक कांस्टेबल ने ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वाले एक कार चालक को रोकने की कोशिश की तो कार चालक ने उसे बोनट पर गिरा कर लगभग एक किलोमीटर तक घसीटा और फिर उसे सड़क पर गिरा कर कार भगा ले गया। लोगों द्वारा इस तरह कानून अपने हाथ में लेना कदापि उचित नहीं कहा जा सकता। अत: इस कुप्रवृत्ति में शामिल लोगों को कठोरतम दंड देने की जरूरत है ताकि लोग खबरदार हों और वे कानून हाथ में न लें।—विजय कुमार 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Chief Editor

vijay kumar

Recommended News