‘नारी जाति घरों में ही सुरक्षित नहीं’ ‘बाहर कैसे सुरक्षित रहेगी’

02/12/2021 3:17:17 AM

सरकार द्वारा नारी जाति के विरुद्ध अपराधों में कमी आने के दावों के बावजूद ये अपराध लगातार जारी हैं। अपराधी इस कदर बेखौफ हो चुके हैं कि अब तो बच्चियां और वृद्धाएं तक इनकी हवस का शिकार हो रही हैं। स्थिति कितनी चिंतनीय हो चुकी है इसी माह के मात्र 10 दिनों की निम्र घटनाओं से स्पष्ट है: 

* 1 फरवरी को बिहार में मुजफ्फरपुर के ‘बोचहां’ गांव में एक व्यक्ति ने घर के बाहर अलाव जलाकर आग सेंक रही महिला द्वारा यौन उत्पीडऩ का विरोध करने पर उसकी 3 महीने की बच्ची को आग में फैंक दिया। 
* 1 फरवरी को ही लुधियाना में एक नाबालिग के साथ बलात्कार करने के आरोप में उसके पड़ोसी युवक को गिरफ्तार किया गया। 
* 1 फरवरी वाले दिन ही होशियारपुर के टांडा में साढ़े चार वर्षीय बच्ची से बलात्कार करने के प्रयास में एक युवक को गिरफ्तार किया गया।
* 2 फरवरी को कर्नाटक में चिकमगलूर के ‘शृंगेरी’ इलाके में एक 15 वर्षीय नाबालिग से पांच महीने तक बलात्कार करने के आरोप में 8 युवकों को गिरफ्तार किया गया जबकि 9 अन्य को तलाश किया जा रहा है।

* 2 फरवरी को सहारनपुर के निकट जनकपुरी क्षेत्र में एक वृद्धा का शव मिला। पुलिस के अनुसार बलात्कार में असफल रहने पर पत्थर से पीट-पीट कर उसकी हत्या की गई। 
* 2 फरवरी को सूरत के ‘कतारगाम’ क्षेत्र में गर्भवती पाई गई छात्रा से बलात्कार करने के आरोप में पुलिस ने 3 युवकों को गिरफ्तार किया।
* 3 फरवरी को ‘फिरोजपुर झिरका’ के एक गांव में 5 युवाओं ने खेत में चारा लेने गई एक युवती से सामूहिक बलात्कार कर डाला। 
* 3 फरवरी को जींद के एक गांव में शौच के लिए निकली नाबालिग का अपहरण करके 4 युवकों ने उससे बलात्कार किया। 

* 4 फरवरी को कोलकाता में एक 9 वर्षीय बच्ची के साथ बलात्कार के बाद पहले उसके 4 दांत तोड़े गए और फिर गला घोंट कर उसकी जीवन लीला समाप्त करने के बाद गला रेत कर उसकी गर्दन काट दी गई। 
* 4 फरवरी को ही अमृतसर के थाना ‘घरिंडा’ पुलिस के अंतर्गत एक 14 वर्ष की नाबालिग से बलात्कार का मामला सामने आया। 
* 5 फरवरी को उत्तर प्रदेश में महोबा जिले के ‘खरेला’ थाना क्षेत्र के गांव में 2 युवक एक मकान की दीवार फांद कर अंदर जा घुसे और घर में मौजूद 80 वर्षीय बुजुर्ग महिला से बलात्कार कर डाला। 
* 5 फरवरी को ही हरियाणा में रेवाड़ी के निकट बनीपुर चौक में आटो में जा रही महिला से आटो चालक और उसके दोस्त ने महिला के पति के सामने ही बलात्कार कर डाला।
* 5 फरवरी को मध्य प्रदेश के मुरैना में ‘सबलगढ़’ इलाके के ‘खिरकारी’ गांव में एक 5 वर्षीय बच्ची की बलात्कार के बाद हत्या कर दी गई। कुछ दिन पहले ही आरोपी मृतक बच्ची की चाची से बलात्कार करने के आरोप में 6 महीने जेल में रह कर जमानत पर रिहा होकर गांव लौटा था। 

* 7 फरवरी को हिमाचल प्रदेश के सुंदर नगर में चंडीगढ़ की रहने वाली एक युवती के साथ गैंग रेप का मामला सामने आया।
* 8 फरवरी को छत्तीसगढ़ के ‘बालोद’ जिले में 10 वर्षीय बच्ची का अपहरण करने के बाद 2 युवकों ने उससे बलात्कार कर डाला।
* 9 फरवरी को उत्तर प्रदेश में इटावा जिले के ‘लवेदी’ इलाके में एक स्कूली छात्रा को 2 युवक पीटते हुए खेत में ले गए और वहां जान से मारने की धमकी देकर उसके साथ बलात्कार कर डाला। 
* 9 फरवरी को ही छत्तीसगढ़ के अम्बिकापुर में नाबालिग लड़की का अपहरण कर बलात्कार करने के आरोप में कोतवाली पुलिस ने आरोपी युवक और उसके रिश्तेदार को गिरफ्तार किया। 

* 10 फरवरी को अपनी 13 वर्षीय बेटी से अश्लील हरकतें करने के मामले में नाभा सदर पुलिस ने एक पूर्व सैनिक को गिरफ्तार किया। 
* 10 फरवरी को ही लुधियाना में अमन नगर में 6 वर्षीय बच्ची के साथ किसी अज्ञात व्यक्ति ने हैवानियत कर डाली।
* 10 फरवरी वाले दिन ही बरेली में पुलिस ने 2 युवकों के विरुद्ध 2 नाबालिग छात्राओं को शादी का झांसा देकर भगा ले जाने और फिर धर्म परिवर्तन के लिए न मानने पर उनसे बलात्कार करने के आरोप में केस दर्ज किया।
* 10 फरवरी को ही लुधियाना में अपनी भतीजी से बलात्कार करके उसे गर्भवती करने के आरोप में उसके फूफा को गिरफ्तार किया गया। 

इस महीने के मात्र 10 दिनों की उक्त घटनाओं से स्पष्टï है कि देश में नारी जाति किस कदर असुरक्षित है। ऐसी ही स्थिति पर कड़ी टिप्पणी करते हुए ‘अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश’, रोहतक आर.पी. गोयल ने 29 जनवरी, 2021 को कहा कि ‘‘देश में महिलाएं और बच्चे सबसे अधिक पीड़ित हैं।’’प्रतिदिन हो रही बलात्कार की घटनाओं ने देश में नारी जाति की सुरक्षा पर गंभीर प्रश्र खड़े कर दिए हैं। अत: आवश्यकता इस बात की है कि बलात्कार के मामलों का जरा भी देर किए बिना जल्द से जल्द फैसला करके दोषियों को कठोरतम दंड दिया जाए और ऐसे लोगों का सामाजिक बहिष्कार किया जाए ताकि इस बुराई पर रोक लगे।—विजय कुमार  


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Chief Editor

vijay kumar

Recommended News