‘अपराधियों को पकड़ने वाले पुलिस कर्मी स्वयं कर रहे घिनौने यौन अपराध’

2021-09-14T04:51:38.5

हालांकि पुलिस विभाग पर देशवासियों की सुरक्षा का जिम्मा होने के नाते इनसे अनुशासित और कत्र्तव्य परायण होने की अपेक्षा की जाती है परंतु आज देश में कुछ पुलिस कर्मचारी अन्य अपराधों के अलावा घिनौने और अश्लील यौन अपराधों तक में संलिप्त पाए जा रहे हैं। 

* 29 अगस्त को उत्तर प्रदेश के बरेली में बिधरी चैनपुर थाना के सिपाहियोंं ने एक लड़की को देख कर हूटिंग शुरू कर दी और जब वहां मौजूद एक दारोगा ने उन्हें टोका तो माफी मांगने की बजाय गुस्से में भड़के सिपाहियों ने दारोगा का मोबाइल ही छीन कर तोड़ दिया।
* 2 सित बर को उत्तर प्रदेश के कौशा बी में एक किशोरी को प्रेम जाल में फंसा कर तीन महीने उसकी इज्जत से खेलने और किशोरी द्वारा शादी की जिद करने पर उससे मंदिर में शादी करने के बाद उसे गांव के निकट छोड़ कर भाग जाने के आरोप में एक सिपाही के विरुद्ध केस दर्ज किया गया।
* 4 सित बर को उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में तैनात एक सिपाही श्याम सुंदर को एक युवती से फेसबुक पर दोस्ती करने के बाद शादी का झांसा देने, उससे कई बार बलात्कार करने और अश्लील वीडियो बनाने के आरोप में केस दर्ज करके निलंबित किया गया।

* 11 सित बर को राजस्थान पुलिस के डी.एस.पी. हीरा लाल सैनी और एक महिला कांस्टेबल के स्वीमिंग पूल में अत्यंत अश्लील हरकतें करते हुए 2 वीडियो सामने आए। ये वीडियो इतने अश्लील हें कि इनके विषय में कुछ भी लिखना संभव नहीं है। इनमें महिला कांस्टेबल का 6 साल का बेटा भी शामिल किया गया है जिसके चलते डी.एस.पी. के विरुद्ध ‘चाइल्ड पोर्नोग्राफी यूनिट’ की ओर से ‘पोक्सो’ लगाने की सिफारिश भी की गई है।

10 जुलाई को महिला कांस्टेबल के बेटे का जन्मदिन था। वह कई बार अपनी मां से स्वीमिंग पूल जाने की इच्छा जता चुका था, इसलिए बच्चे की इच्छा पूरी करने के लिए वे तीनों 10 जुलाई को पुष्कर आ गए और 2 दिन बच्चे के साथ सूरज कुंड स्थित रिसोर्ट में ठहरे। इनके लिए कमरा पुष्कर के तत्कालीन थाना प्रभारी राजेश मीणा ने बुक करवाया था। रिसोर्ट के रिसैप्शन पर जब हीरा लाल सैनी से पहचान पत्र मांगा गया तो उसने पुलिसिया धौंस दिखाते हुए पहले तो पहचान पत्र देने से मना कर दिया परंतु बाद में दोनों ने अपने पहचान पत्र दे दिए थे।

हीरा लाल सैनी व महिला कांस्टेबल का अश्लील वीडियो वायरल होने के बाद सैनी के निल बन व गिर तारी के बाद महिला कांस्टेबल को भी 12 सित बर को गिर तार करके दोनों को 17 सित बर तक रिमांड पर भेज दिया गया। पहले भी सैनी के कई महिला कांस्टेबलों से संबंध रह चुके हैं।
पता चला है कि दोनों में 5 वर्ष से दोस्ती थी। महिला कांस्टेबल ने अपने मोबाइल में हीरा लाल सैनी तथा उसके बीच के स बन्धों की वीडियो और फोटो ‘सेव’ करके रखी हुई थीं। वह इन्हें अलग फोल्डर में रखना चाह रही थी लेकिन उसकी गलती से यह वायरल हो गया।

महिला के इस वीडियो को लेकर सबसे पहले इसके पति ने ही बात उठाई थी। चर्चा यह भी है कि महिला के पति की रिपोर्ट पर कोई कार्रवाई न करने और राजीनामा करने के बदले में डी.एस.पी. हीरा लाल सैनी से एक अन्य पुलिस अधिकारी ने 50 लाख रुपए में सौदा किया था। उक्त उदाहरणों से स्पष्ट है कि नागरिकों की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार पुलिस विभाग आज किस कदर अपने मार्ग से भटक चुका है। यदि लोगों की रक्षा करने वाले ही स्वयं अपराधों में संलिप्त होने लगेंगे तो फिर भला अपराध कैसे रुक सकते हैं।

अत: दोषी पुलिस कर्मियों के विरुद्ध तेजी से कार्रवाई करके उन्हें शिक्षाप्रद और कठोरतम दंड दिया जाना चाहिए ताकि समूचे पुलिस विभाग में इसका संदेश जाए और वे अपराधों से बाज आएं, पुलिस की वर्दी पर दाग न लगे और उसकी छवि बेदाग रहे।—विजय कुमार


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Chief Editor

vijay kumar

Recommended News