राज्यसभा चुनाव विधायकों के ‘इधर-उधर होने के डर से’ उन्हें ठहराया ‘पांच सितारा होटलों में’

punjabkesari.in Thursday, Jun 09, 2022 - 03:31 AM (IST)

इस समय जबकि भारत की राजनीति में गर्माहट चरम पर पहुंची हुई है, महाराष्ट्र, राजस्थान और हरियाणा में 10 जून को होने वाले राज्यसभा के चुनावों में हर दल को अपने विधायकों द्वारा दल-बदल का डर सता रहा है, इसीलिए उन्होंने अपने तथा अपने समर्थक विधायकों को वश में रखने के लिए इनको दूर पांच सितारा होटलों में पहुंचा दिया है। 

महाराष्ट्र में 6 सीटों के लिए शिवसेना ने पहले तो अपने विधायकों के लिए दक्षिण मुम्बई के ‘ट्राइडैंट होटल’ में कमरे बुक करवाए, लेकिन यह पता चलने पर कि भाजपा भी अपने विधायकों को वहीं ठहराने जा रही है तो उन्होंने अपने विधायकों को दक्षिण मुम्बई के एक फाइव स्टार होटल में शिफ्ट कर दिया। 

भाजपा ने भी अपने विधायकों को ‘ट्राइडैंट होटल’ में ठहराने का पहला प्रोग्राम रद्द करके उन्हें होटल ‘ताज विवांता’ में ठहराया है। राजस्थान में 4 सीटों पर चुनाव के दृष्टिगत भीतरघात के डर से कांग्रेस ने अपने विधायकों को इधर-उधर जाने से रोकने के लिए उन्हें उदयपुर के होटल ‘ताज अरावली रिसोर्ट एवं स्पा’ में ठहराया है। यहां उनके आराम और मनोरंजन के लिए जादू के खेल और फिल्में दिखाने, अंताक्षरी खेलने, जन्मदिन मनाने आदि का प्रबंध किया गया है। रिसोर्ट से मिलने वाले वीडियो में सभी उम्मीदवार एवं अन्य नेतागण खूब मनोरंजन करते व स्वीमिंग पूल में नहाते, गाते और नाचते दिखाई दे रहे हैं। 

‘ताज अरावली’ होटल में 3 करोड़ रुपए की लागत से 150 कमरे बुक करवाए गए। हर विधायक को अलग-अलग कमरे में ठहराया गया, हर विधायक के रोज के खाने व रहने का खर्च लगभग 20,000 रुपए बताया जाता है। यहां कांग्रेस के लगभग 30 लाख रुपए दैनिक खर्च हो रहे हैं। भाजपा ने अपने विधायकों के लिए जयपुर के ‘होटल देवीरत्न’ में 62 कमरे बुक करवाए हैं, जहां उन्हें विभिन्न सुविधाएं देने के साथ योग करने की सुविधा भी प्रदान की गई है। इन पर कुल खर्च लगभग 50 लाख रुपए तथा प्रतिदिन खर्च लगभग साढ़े 9 लाख रुपए बताया जाता है। 

हरियाणा में राज्यसभा की 1 सीट जीतने के लिए कांग्रेस ने एक पूरा विमान किराए पर लेकर अपने विधायकों को छत्तीसगढ़ के रायपुर के ‘मेफेयर लेक रिसोर्ट’ में ले जाकर ठहराया है। यहां भी विधायक खूब मौज-मस्ती कर रहे हैं। वे सुबह नाश्ता कहीं और तथा शाम को ड्रिंक्स कहीं दूसरी जगह लेते हैं। उनके लिए तो यह प्रवास छुट्टियों से भी बढ़ कर है। इन्हें 10 जून को रायपुर से सीधे चंडीगढ़ लाकर हरियाणा विधानसभा में पहुंचाया जाएगा जहां मतदान होगा। 

राज्यसभा के चुनावों में सभी दलों को उलटफेर व उठापटक का इतना भय है और उनका अपनी ही पार्टी के लोगों पर से इस कदर विश्वास उठ गया है कि उन्हें होटलों में मेहमान बना कर उनकी फरमाइशें पूरी करके अपने साथ जोड़े रखने के लिए पानी की तरह पैसा बहाना पड़ रहा है। देश की राजनीति में धनबल की भूमिका का यह ज्वलंत प्रमाण है।—विजय कुमार  


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Related News

Recommended News