पंजाब सरकार के चंद नए मंत्री आए एक्शन में

10/02/2021 3:05:35 AM

26 सितम्बर को पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने सड़क मार्ग से बठिंडा जाते हुए गांव मंडी कलां में एक नवविवाहित जोड़े को देख कर अपनी कार रुकवाकर उन्हें बधाई दी और दूल्हे को गले लगाने और नववधू को अपनी जेब से 1000 रुपए शगुन देने के बाद लड्डू खाकर अपने बच्चों की तरह स्नेह पूर्वक नई जोड़ी को आशीर्वाद दिया। 

परिवहन मंत्री अमरेंद्र सिंह ‘राजा वडिंग’ ने बस यात्रियों की तकलीफें जानने के लिए 30 सितम्बर को पी.आर.टी.सी. की एक लग्जरी बस द्वारा राजपुरा से पटियाला तक यात्रा करके यात्रियों की शिकायतें सुनीं। बाद में उन्होंने बस यात्रियों की सभी तकलीफें दूर करने और 15 दिनों के भीतर ट्रांसपोर्ट माफिया का सफाया करके विभाग का राजस्व बढ़ाने का दावा करते हुए परिवहन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को किसी दबाव और प्रभाव में आए बिना अपने कत्र्तव्य निभाने और बिना परमिट चलने वाली बसें जब्त करने का आदेश दिया। 

उपमुख्यमंत्री सुखजिंद्र सिंह रंधावा ने 1 अक्तूबर को सुबह 8.55 बजे चंडीगढ़ में पुलिस मुख्यालय में छापा मारकर स्टाफ की हाजिरी जांची और कर्मचारियों को चेतावनी दी कि इस मामले में लापरवाही कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। कुछ समय पहले तक कर्मचारियों के समय पर न आने के कारण आम लोगों को भारी परेशानी हो रही थी तथा पिछले मुख्यमंत्री तो सचिवालय तक में अपने कार्यकाल में चंद दिन ही आए। इससे अफसरशाही बेलगाम हो गई और आम आदमी की कोई पूछताछ ही नहीं रही। अब आशा की जानी चाहिए कि सरकार के कामकाज में सुधार होने से आम लोगों को राहत मिलेगी। 

जिस तरह इन मंत्रियों ने किया है उसी तरह अन्य मंत्रियों को भी करना चाहिए। समय कम है और करने के लिए काम बहुत ज्यादा। कुछ ही समय बाद चुनाव आचार संहिता लागू हो जाएगी और फिर सरकार नई योजनाओं पर काम नहीं कर पाएगी अत: इस मौके का उन्हें यथासंभव लाभ उठाना चाहिए केवल ऐलानों से कुछ नहीं होने वाला।—विजय कुमार 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Chief Editor

vijay kumar

Recommended News