देश के कोने-कोने में बरामद हो रहे खतरनाक विस्फोटक और हथियार

2021-09-03T03:39:03.677

आज एक ओर पाकिस्तान अपने पाले हुए आतंकवादियों के जरिए  भारत में हथियारों की तस्करी और हिंसा करवा रहा है तो दूसरी तरफ उसके साथ मिले हुए समाज विरोधी तत्वों ने भारत में अवैध हथियारों की तस्करी और निर्माण शुरू कर रखा है। यह स्थिति कितना गंभीर रूप धारण कर चुकी है यह मात्र गत तीन सप्ताहों के निम्र उदाहरणों से स्पष्ट है : 

* 8 अगस्त को ओडिशा के कालाहांडी जिले में ‘तदीझोला’ गांव से भारी मात्रा में बंदूकें, जिलेटिन की छड़ें, डैटोनेटर, तारों के बंडल पकड़े गए। 
* 8 अगस्त को झारखंड में जमशेदपुर जाने वाले रास्ते में बिछाए हुए 15 बम (लैंड माइन्स) बरामद हुए।
* 8 अगस्त को दिल्ली पुलिस ने एक हथियार सप्लायर को 20 आधुनिक पिस्तौलों और कारतूसों के साथ गिरफ्तार किया। 

* 9 अगस्त को पुलिस को पाकिस्तान सीमा के निकट स्थित गांव से 5 हैंड ग्रेनेड, 3 डैटोनेटर आदि मिले।
* 14 अगस्त को जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले के सरोला जंगल में छिपाया हुआ एक चीनी पिस्तौल, एक 12 बोर की राइफल, 2 देसी हैंडगनें, 5 चीनी ग्रेनेड सहित भारी मात्रा में गोला-बारूद जब्त किया गया। 
* 16 अगस्त को पुलिस ने घरिंडा इलाके में 2 आतंकियों के कब्जे से 2 हथगोले, पिस्तौल  व गोला-बारूद बरामद किया।
* 17 अगस्त को आंध्र प्रदेश के प्रकाशम जिले में शेख करीमुल्ला नामक व्यक्ति से 5 जिलेटिन की छड़ें और 10 बिजली के डैटोनेटर बरामद हुए। 

* 17 अगस्त को कर्नाटक पुलिस ने साम्प्रदायिक रूप से संवेदनशील मैंगलूरू में 1725 किलो विस्फोटक जब्त किया।
* 18 अगस्त को महाराष्ट्र में औरंगाबाद के ‘जियोराई’ गांव में संतोष सिंह टाक के मकान से 126 इलैक्ट्रोनिक विस्फोटक उपकरण बरामद हुए।
* 19 अगस्त को मणिपुर में भारत-म्यांमार की बाड़ रहित सीमा पर 3 आई.ई.डी., डैटोनेटर, सेफ्टी फ्यूज व अन्य विस्फोटक सामग्री जब्त की गई।
* 20 अगस्त को मेघालय के रिभोई जिले में बर्नीहाट की पुलिस ने कार में 9000 एल्युमीनियम इलैक्ट्रिक डैटोनेटर व 2044 जिलेटिन की छड़ों के साथ मोयनुल हक नगरबोरा नामक व्यक्ति को गिरफ्तार किया।
* 21 अगस्त को जम्मू-कश्मीर के त्राल में एक मुठभेड़ स्थल से 2 ए.के. 47 राइफलें, 1 एस.एल.आर. तथा भारी मात्रा में गोला-बारूद बरामद हुआ।
* 24 अगस्त को उत्तर प्रदेश में पयागपुर पुलिस ने यूसुफ अली से 1 तमंचा, 2 जिंदा कारतूस व 1 किलो विस्फोटक जब्त किया। 

* 24 अगस्त को जम्मू-कश्मीर में बांदीपुरा के जंगल में आतंकियों के ठिकाने से 10 यू.बी.जी.एल., 2 चीन निर्मित ग्रेनेड व अन्य आपत्तिजनक सामग्री बरामद हुई।
* 25 अगस्त को पश्चिम बंगाल पुलिस ने आसनसोल के निकट बिहार जा रही एक बस से 30 देसी बम बरामद कर एक व्यक्ति को हिरासत में लिया।
* 27 अगस्त को असम के कार्बो आंगलोंग जिले में 4 लोगों को भारी संख्या में हथियारों व गोला-बारूद के साथ गिरफ्तार किया गया।
* 29 अगस्त को जजोल बार्डर की आऊट पोस्ट की जीरो लाइन पर बड़ी मात्रा में हथियार पकड़े गए।
* 29 अगस्त को झारखंड के पलामू जिले के जंगल में उग्रवादियों से मुठभेड़ के बाद पुलिस ने 2 राइफलें, 1 देसी पिस्तौल, कई गोलियां और हथियार बनाने के लिए काम आने वाले उपकरण बरामद किए। 

* 31 अगस्त को छत्तीसगढ़ के बीजापुर में सुरक्षाबलों ने 3 नक्सलियों को गिरफ्तार करके उनके कब्जे से बड़ी मात्रा में विस्फोटक सामग्री जब्त की।
* 31 अगस्त को सी.आई.ए.- 3 पानीपत की पुलिस ने अवैध हथियारों की फैक्टरी व उन्हें सप्लाई करने वाले गिरोह के 4 सदस्यों के कब्जे से 35 पिस्तौल व 45 मैगजीनें बरामद कीं।
* 1 सितम्बर को मध्य कश्मीर के सदराबाग जंगल में आतंकियों द्वारा छिपा कर रखे ए.के. 47 के 2 मैगजीन, उसके राऊंड व हथगोले आदि पकड़े गए।
* 1 सितम्बर को बिहार के लक्खीसराय में नक्सलियों के अड्डïे से एक राइफल तथा अन्य हथियार पकड़े गए। 
* 2 सितम्बर को भारत-पाक सीमा पर खालड़ा सैक्टर में सुरक्षा बलों द्वारा सर्च आप्रेशन के दौरान खेतों से 4 पिस्तौल, 8 मैगजीन और 40 जिंदा राउंड के अलावा 2 पैकट हैरोइन बरामद हुई।  

उक्त उदाहरणों से स्पष्ट है कि आज पाक समॢथत आतंकवादी और भारत में अवैध हथियारों के निर्माता तथा व्यापारी देश की सुरक्षा और कानून-व्यवस्था के लिए भारी खतरा बनते जा रहे हैं। अत: इस समस्या को समाप्त करने के लिए सरकारों को सोच-विचार कर अधिक कठोर कदम उठाने की ओर ध्यान देना चाहिए ताकि कोई बड़ी घटना न हो व जान-माल के नुक्सान से बचा जा सके।—विजय कुमार 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Chief Editor

vijay kumar

Recommended News