अनदेखी का शिकार हुए छात्र, पढ़ाने के लिए रोज 13 किलोमीटर चलने को मजबूर

 सरकारों और प्रशासन की अनदेखी के कारण आज भी छात्र अपना भविष्य संवारने के लिए मीलों का सफर पैदल करने को मजबूर हैं। शिलाई क्षेत्र की तीन पंचायतें जामना, शरली और शावगा में कोई भी बस सुविधा ना होने के कारण यहां के लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। खास कर स्कूल और कॉलेज के विद्यार्थियों को ज्यादा परेशानी हो रही है। उन्हें पढऩे के लिए हर रोज मजबूरन 13 किलोमीटर का सफर करना पड़ रहा है। सबसे बड़ी विडंबना का विषय यह है कि सरकारें हर साल नई बसें लाती हैं और उन्हें ऐसे रोड पर चला रही हैं जहां पर पहले भी दर्जनों बसें चल रही हैं। जबकि जहां इनकी जरूरत है उस क्षेत्र को नजर अंदाज कर दिया जाता है। सरकार और प्रशासन की इस अनदेखी से छात्रों में खासा रोष है।

 

Related Stories:

RELATED विद्यार्थियों ने निकाली जनचेतना रैली