ऑफ द रिकार्ड: सैलीब्रिटीज के प्रति ज्यादा उत्साहित नहीं है भाजपा

नेशनल डेस्क:भाजपा हाईकमान आगामी लोकसभा चुनावों में क्रिकेट, सिनेमा, कला व अन्य क्षेत्रों से जुड़ी सैलीब्रिटीज को चुनावी रण में उतारने के लिए बहुत उत्साहित नहीं है। मीडिया की कुछ रिपोर्टों के अनुसार भाजपा कई स्टार क्रिकेटरों व अभिनेताओं को चुनावी समर में उतारेगी। भाजपा के एक सूत्र का कहना है कि हम उनकी काबिलियत को नकार नहीं रहे हैं लेकिन हमारा अनुभव कहता है कि इस तरह के स्टार पार्टी के देयता ज्यादा व संपत्ति कम होते हैं।


शत्रुघ्न सिन्हा व हेमा मालिनी को छोड़कर शायद ही किसी सैलेब्रिटी ने पार्टी के लिए गंभीरता से काम किया हो। हालांकि 28 साल पार्टी की सेवा करने के बाद सिन्हा ने बगावती तेवर अख्तियार कर लिए। दूसरा कीर्ति आजाद, सिन्हा व नवजोत सिंह सिद्धू के पार्टी छोड़ने के बाद भाजपा नेतृत्व इस तरह की सैलीब्रिटी को पार्टी में बड़े पैमाने पर शामिल करने के लिए काफी सावधानी बरत रहा है क्योंकि ये लोग पार्टी का काम करने की बजाय मंत्री बनना चाहते हैं।

हालांकि भाजपा की योजना है कि वह तेलंगाना, केरल, तमिलनाडु, ओडिशा, पश्चिमी बंगाल व पूर्वोत्तर में इन सैलीब्रिटीज को चुनावी समर में उतारना चाहती है क्योंकि यहां भाजपा अपना आधार बढ़ाना चाहती है। इसी कड़ी में पार्टी ने सुरेश बाबू व मैरी कोम को राज्यसभा सदस्य बनाया। लेकिन पार्टी दिल्ली, बिहार, यू.पी. व गुजरात आदि राज्यों में जहां वह मजबूत है वहां इनसे बच रही है।

हालांकि पार्टी ने परेश रावल, राज्यवर्धन सिंह राठौर को 2014 के चुनावों में उतारा था। इस बार गौतम गंभीर इस बार चुनाव लड़ने के इच्छुक बताए जा रहे हैं।

यही नहीं भाजपा चाहती है कि बॉलीवुड स्टार अक्षय खन्ना पार्टी ज्वाइन करें लेकिन अभी उन्होंने कोई फैसला नहीं लिया है। अक्षय गुरदासपुर से चुनाव लड़ना चाहते हैं। इस सीट का प्रतिनिधित्व उनके पिता ने किया था। मोहन लाल व सन्नी दिओल भी चुनाव लड़ने के इच्छुक बताए जा रहे हैं। इसके अलावा माधुरी दीक्षित व मोहन लाल के नाम भी लिए जा रहे हैं जिन्हें मुम्बई-पुणे या तिरुवनंतपुरम से चुनाव लड़ाया जा सकता है।

Related Stories:

RELATED ऑफ द रिकार्ड: कम मतदान होने के बाद आर.एस.एस. हुआ सक्रिय