अवहेलना कर रहे हैं निजी स्कूल

नई दिल्ली (प्रियंका सिंह): केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के आदेशों की अवहेलना लगातार निजी स्कूल कर रहे है। इसी कड़ी में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें स्कूलों द्वारा विभिन्न कक्षाओं में पढ़ाए जाने वाली पाठ्यपुस्तक की जानकारी वेबसाइट पर अपलोड करना था। लेकिन स्कूलों द्वारा ऐसा नहीं किया जा रहा है। जबकि सीबीएसई ने 21 जून वर्ष 2018 में सभी निजी स्कूलों को आदेश दिया था कि सीबीएसई से मान्यता प्राप्त सभी निजी स्कूल को प्रत्येक शैक्षणिक सत्र की शुरुआत से पहले अपनी वेबसाइट पर निर्धारित पाठ्यपुस्तकों का कक्षावार विवरण को अपलोड करना होगा। किंतु ऐसा देखने को नहीं मिल रहा है। इस मामले को लेकर अभिभावकों द्वारा स्कूल को पत्र लिखकर जवाब मांगा जा रहा है। लेकिन स्कूल की तरफ से संबंधित विषय पर कोई जवाब नहीं दिया गया है। दरअसल, इस संबंध में मॉडल टाउन 3 स्थित क्वीन मेरीज स्कूल नॉर्थ एंड में पढ़ रही बच्ची के अभिभावक ने पत्र लिखकर जानकारी मांगी थी। किंतु स्कूल की तरफ से कोई जानकारी नहीं दी गई। 

अभिभावक रोहित हांडा का कहना है कि सीबीएसई स्कूलों में निजी प्रकाशकों की सांठगांठ के चलते अभिभावकों को हर साल हजारों रुपए की किताबें खरीदने के लिए मजबूर होना पड़ता था। इसी को देखते हुए सीबीएसई ने निजी स्कूलों को किताबों की सूची वेबसाइट पर अपलोड करने के लिए कहा था। ताकि इस पर पारदर्शिता बढ़ाई जा सके। मगर ऐसा नहीं हुआ। उन्होंने बताया कि 16 फरवरी को इस मामले को लेकर क्वीन मेरीज स्कूल, नॉर्थ एंड को पहला पत्र लिखा था। परंतु स्कूल प्रशासन की तरफ से कोई जवाब नहीं दिया गया। फिर मैने स्कूल को स्मरण पत्र भेजा था। इसके बाद भी स्कूल प्रशासन की तरफ से कोई स्कारात्मक प्रतिक्रिया नहीं मिली। तब उन्होंने इस मामले को शिक्षा निदेशालय के संज्ञान में लाने के लिए निदशालयों को भी पत्र लिखा। वहां से भी हमें निराशा ही हाथ लगी। यह हाल सिर्फ एक स्कूल का नहीं है, जबकि  सीबीएसई से मान्यता प्राप्त सभी निजी स्कूलों का यही हाल है। 
 

Related Stories:

RELATED स्कूलों में दाखिले के लिए अभी एक सप्ताह और करना होगा इंतजार