ईरान की चेतावनी-पाक को आतंकियों के संरक्षण के लिए चुकानी पड़ेगी ''''भारी कीमत''''

तेहरानःपुलवामा हमले के बाद ईरान भी पाकिस्तान के विरोध में खुलकर सामने आ गया है। आत्मघाती हमले में रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के 27 सैनिकों की मौत से भड़के ईरान ने पाकिस्तान को सख्त चेतावनी देते हुए कहा है कि उसे आतंकियों के संरक्षण के लिए ''भारी कीमत'' चुकानी पड़ेगी।ईरान के रिवाल्यूशनरी गार्ड्स ने पाकिस्तान पर इस आत्मघाती बम हमले के षड्यंत्रकर्ताओं को समर्थन देने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि भारत के जवानों की तरह ही 2 दिन पहले उनके जवानों को निशाना बनाया गया था।

रिवोल्यूशनरी गार्ड्स कमांडर मेजर जनरल मोहम्मद अली जाफरी ने जाफरी ने चेतावनी देते हुए कहा, 'अगर पाकिस्तान सरकार ने उन्हें दंडित नहीं किया तो हम इन जिहादी समूहों को मुंहतोड़ जवाब देंगे और पाकिस्तान को उनका समर्थन करने का अंजाम भुगतना होगा'। बता दें कि दक्षिण पूर्वी ईरान में रेवोल्यूशनरी गार्ड्स की बस पर आत्मघाती कार हमले में 27 सैनिकों की मौत हो गई थी। यह हमला ऐसे समय में हुआ है जब सैनिक सीमा पर गश्ती अभियान से लौट रहे थे।

रिवॉल्यूशनरी गार्ड्स की दक्षिण-पूर्वी शाखा की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि बुधवार को जिस समय एक यूनिट पाकिस्तान के साथ लगती सीमा से वापस लौट रही थी, उसी समय उनकी बस के बगल में विस्फोटकों से भरी कार में धमाका हो गया। ये प्रांत अफीम तस्करी के अहम मार्ग पर पड़ता है, जहां ईरानी बलों और बलूच अलगाववादियों तथा ड्रग्स तस्करों के बीच अक्सर संघर्ष होता है। रिवोल्यूशनरी गार्ड फोर्स ईरान की प्रमुख आर्थिक और सैन्य शक्ति है जो देश के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामनेई के प्रति जवाबदेह है।

Related Stories:

RELATED 19 मार्च से फिर बदलेंगे मौसम के तेवर, बर्फबारी के साथ ओलावृष्टि की चेतावनी