बर्फीली नदी काटकर बनाए आस्था कुंड, -40 डिग्री में 24 लाख लोगों ने लगाई डुबकी (pics)

मॉस्कोःरूस में मनाए गए इपिफनी फेस्टिवल दौरान जॉर्डन नदी की बर्फ काटकर आस्था कुंड बनाए गए जिनमें देशभर के करीब 24 लाख लोगों ने माइनस 40 डिग्री ठंडे पवित्र पानी में डुबकी लगाई। इनमें पुरुष, महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे। जानकारी के अनुसार फेस्टिवल में भाग लेने वाले ज्यादातर लोग ईसाई समुदाय के थे।


माना जाता है रात वक्त पानी पवित्र होता है और उस पानी में नहाने से सारे पाप धुल जाते हैं। जानकारी के मुताबिक, यह फेस्टिवल 16वीं शताब्दी से मनाया जा रहा है।

गौरतलब है कि रूस में कड़ाके की सर्दी पड़ रही है। यकुतिया इयहां लाके में पारा माइनस 67 डिग्री तक चला गया। कई अन्य इलाकों में भी तापमान शून्य से 50 डिग्री नीचे पहुंच गया है। इसके चलते लोग घरों में कैद रहने को मजबूर हैं।

10 लाख की आबादी वाला यकुतिया रूस के सबसे ठंडे इलाकों में से एक है। पुलिस ने यहां लोगों को घरों से न निकलने की हिदायत दी है। रूस के ओयम्याकोन गांव में भी तापमान माइनस 67 डिग्री दर्ज किया गया। मालूम हो कि 1993 में पारा माइनस 71 डिग्री तक गिर गया था, जो दुनिया में कहीं भी सबसे कम तापमान का रिकॉर्ड है।

Related Stories:

RELATED अपने ही नदी-नालों के पानी के लिए लड़ाई लड़ेगा हिमाचल