Blackmail: FB फ्रेंड बनकर महिला ने फ्लैट पर बुलाया शख्स, फिर करवा दी पुलिस रेड

जालंधर (स.ह., बुलंद):हनी ट्रैप में फंसे फेसबुक फ्रैंड को विजीलैंस ट्रैप ने बचाते हुए कालासंघिया चौकी में तैनात हवलदार राजा सिंह, पुलिस कर्मी की पूर्व पत्नी व एक अन्य महिला को 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है। तीनों आरोपी युवकों को हनी ट्रैप में फंसाकर जाली पुलिस रेड बता कर ब्लैकमेल करके लाखों रुपए मांगने का धंधा करते थे। 29 दिसम्बर से हवलदार व दोनों महिलाएं सरकारी विभाग के कर्मचारी पीड़ित व्यक्ति को डरा-धमका कर पैसे मांग रहे थे।

ऐसे फंसाया हनी ट्रैप में...
एस.एस.पी. विजीलैंस दिलजिंद्र सिंह ढिल्लों ने बताया कि सरकारी विभाग के कर्मचारी ने उन्हें शिकायत दी थी कि कुछ समय पहले एक महिला उसके साथ फेसबुक पर फ्रैंड बनी थी। कुछ ही समय बाद उन्होंने एक-दूसरे का नंबर ले लिया और फिर व्हाट्स एप पर बातें होनी शुरू हो गईं। महिला ने बताया था कि वह खुद सूर्या एन्क्लेव में रहती है। 29 दिसम्बर को महिला ने फोन करके शिकायतकत्र्ता को गुरु गोङ्क्षबद सिंह एवेन्यू बुला लिया। वह उसे गेट पर मिली और उसकी कार में बैठ उसे कुछ ही दूरी पर स्थित एक फ्लैट में ले गई। वहां पर एक अन्य महिला भी थी जो एक पुलिस कर्मी की पूर्व पत्नी है जिसे उक्त महिला ने खुद की बहन बताया था। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाए कि अभी वे बैठकर चाय पी रहे थे कि इतने में वर्दी पहने पुलिस कर्मचारी आ गया और उसे धमकाना शुरू कर दिया।

ऐसे हुई डील...
राजा सिंह नामक उक्त हवलदार ने उसे थाने ले जाने की बात की और उस पर गंभीर आरोप लगाए। मिलीभगत होने के कारण महिलाओं ने पुलिस वाले को रिश्वत देकर मामला रफा-दफा करने को कहा लेकिन शिकायतकर्ता ने अपनी कोई गलती नहीं मानी तो हवलदार राजा सिंह ने शिकायतकर्ता पर केस डालने की धमकियां देनी शुरू कर दी और 2 लाख रुपए मांगने लगा। शिकायतकर्ता ने फिलहाल उसके पास 5000 रुपए होने की बात कही तो राजा सिंह ने उसकी जेब से पर्स निकाल कर 5000 रुपए व सभी दस्तावेजों सहित ए.टी.एम. कार्ड भी निकाल लिया। धमकाने पर शिकायतकर्ता ने 2 लाख रुपए न होने की बात कही और कहा कि उसकी गाड़ी में चैकबुक पड़ी है जिसमें से वह चैक उन्हें दे देगा और किसी तरह पैसों का इंतजाम करके अपने बैंक अकाऊंट में डाल देगा, उसके बाद वे पैसे निकाल लें। हवलदार राजा सिंह ने शिकायतकत्र्ता से एक लाख रुपए का चैक और एक खाली चैक पर साइन करके ले लिया व एक हफ्ते के अंदर पैसे देने की बात कही गई।
शिकायतकर्ता ने विजीलैंस का लिया सहारा... 
17 जनवरी को फिर राजा सिंह ने फोन करके पैसे देने को कहा और धमकी दी कि अगर उसने पैसे नहीं दिए तो वह घर आकर उसकी इलाके में बेइज्जती करेगा और केस भी डाल देगा। ऐसे में शिकायतकर्ता ने 19 जनवरी को 50 हजार रुपए की एक किस्त देने का भरोसा दिया। हवलदार राजा सिंह ने धमकी दी कि अगर वह 19 जनवरी को नहीं आया तो वह उसका चैक बाऊंस करवाकर धारा-420 का केस भी डाल देगा। पीड़ित ने विजीलैंस में शिकायत दे दी। डी.एस.पी. सतपाल के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। 19 जनवरी को जैसे ही शिकायतकर्ता हवलदार राजा सिंह व दोनों महिलाओं को 50 हजार रुपए देने आया तो विजीलैंस ने सरकारी गवाहों के सामने रेड करके तीनों को रिश्वत लेते रंगे हाथ काबू कर लिया व 50 हजार रुपए भी बरामद कर लिए थे। बताया जा रहा है कि कुछ समय से दोनों महिलाएं फेसबुक के माध्यम से लोगों को अपनी बातों में फंसा कर इसी तरह फ्लैट में बुला लेती थी और फिर जाली पुलिस की रेड के नाम पर लाखों रुपए ले लिए जाते थे। तीनों से पूछताछ की जा रही है।
शहर में चल रहा ठग महिलाओं का रैकेट
यह पहला केस नहीं है जब महिलाओं के इस रैकेट में पुरुष फंसाए जाते हों। इससे पहले थाना नई बारादरी में 2 युवतियों पर केस दर्ज किया था जिन्होंने एक युवक को हनी ट्रैप में फंसा कर उसे ब्लैकमेल किया था। लोगों ने दोनों युवतियों को थाना रामामंडी की पुलिस हवाले कर दिया था लेकिन उन दोनों युवतियों पर थाना नई बारादरी में केस दर्ज करके गिरफ्तार कर लिया गया था।  थाना रामा मंडी के इलाके में ही एक प्रापर्टी डीलर को हनी ट्रैप में फंसा कर जाली पुलिस वाले से रेड करके उसे भी धमकाया गया था लेकिन शोर मचने पर प्रापर्टी डीलर का बचाव हो गया था। बाद में चर्चा थी कि इस रैकेट में शामिल पुलिस वाला एक थाने में तैनात मुंशी का भाई है। उधर, एस.एस.पी. विजीलैंस दिलजिंद्र सिंह ढिल्लों का कहना है कि सरकारी मुलाजिम अगर किसी भी तरह से ऐसे केसों में शामिल हों तो उसकी जानकारी विजीलैंस ब्यूरो को दी जाए।

Related Stories:

RELATED सैंडलों में हैरोइन छिपाकर भेजने वाली नाइजीरियन लड़की ने FB अकाऊंट किया डिलीट