अमेरिका में भूचालः ट्रंप ने दिया इस्तीफा, पूरी दुनिया ने मनाए जश्न

वाशिंगटनः दुनिया भर में बुधवार को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के इस्तीफे की खबर फैलने से हड़कंप मच गया। अमेरिका में ट्रंप के इस्तीफे की खबर छापने वाले ‘वाशिंगटन पोस्ट’ अखबार के जाली संस्करण का व्हाइट हाउस के आस-पास और वाशिंगटन डीसी के व्यस्त इलाके में खुलेआम वितरण हुआ। इसमें दावा किया गया कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस्तीफा दे दिया है।  खबर के फैलते ही अमेरिका समेत दुनिया भर में ट्रंप विरोधी लोग जश्न मनाने लगे। 


मूल अखबार के संस्करण की तरह इसे पेश किया गया। इसमें छह कॉलम में बड़ा शीर्षक दिया गया ‘अप्रत्याशित : ट्रंप व्हाइट हाउस से विदा, संकट खत्म’ ('UNPRESIDENTED Trump hastily departs White House, ending crisis'।इस लीड न्यूज में 4 कॉलम में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की तस्वीर लगी हुई है, जिसमें वो सिर नीचे झुकाए परेशान नजर आ रहे हैं। अखबार में एक मई 2019 की तारीख दर्ज थी। इस खबर के फैलते ही अमेरिका में भूचाल आ गया।

पेनसिलवेनिया एवेन्यू और व्हाइट हाउस के बाहर एक महिला ने कहा, ‘‘वाशिंगटन पोस्ट का यह विशेष संस्करण लीजिए। यह मुफ्त है। आपको यह कभी नहीं मिलेगा।’’ महिला प्लास्टिक बैग में अखबार का बंडल रखकर वहां से गुजरने वालों को उससे निकालकर अखबार थमा रही थी। ‘वाशिंगटन पोस्ट’ ने एक ट्वीट के जरिए स्पष्टीकरण जारी कर कहा कि फर्जी अखबार का वितरण किया गया। व्हाइट हाउस की ओर से जाली अखबार पर फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है।

मामला सामने आने के बाद ‘वॉशिंगटन पोस्ट’ ने ट्वीट कर अपना स्पष्टीकरण जारी करते कहा कि ट्रंप के इस्तीफे की फर्जी न्यूज वाले अखबार का वितरण किया गया। इस फर्जी न्यूज पेपर से वॉशिंगटन पोस्ट का कोई लेना-देना नहीं है। इस घटना की जांच की जा रही है। बता दें कि अमेरिका में मैक्सिको की दीवार को लेकर विवाद गहराया हुआ है।

ट्रंप मैक्सिको की दीवार बनाने के लिए संसद यानी कांग्रेस से फंड को मंजूरी देने की मांग कर रहे हैं, जबकि डेमोक्रेट्स सांसद इसके पक्ष में नहीं हैं।अमेरिकी संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में डेमोक्रेटिक पार्टी का वर्चस्व कायम हो गया है और ट्रंप की रिपब्लिकन पार्टी अल्पमत में है। दोनों के बीच जारी खींचतान के चलते अमेरिका इतिहास के सबसे लंबे शॉडाऊन से जूझ रहा है। 

Related Stories:

RELATED सुनते थे कि भूंकप आयेगा, पांच साल में नहीं आया : मोदी