UBS ने आर्थिक वृद्धि के अनुमान को घटाकर 7.3% किया

मुंबईः स्विट्जरलैंड की ब्रोकरेज कंपनी यूबीएस ने चालू वित्त वर्ष में भारत की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर के अनुमान को 7.5 से घटाकर 7.3 प्रतिशत कर दिया है। यूबीएस ने कहा है कि वैश्विक कारकों और कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों की वजह से चालू वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में वृद्धि दर कम रहने की आशंका है।

यूबीएस द्वारा वृद्धि दर का अनुमान घटाए जाने से पहले अन्य विश्लेषक तथा वैश्विक रेटिंग एजेंसी मूडीज भी ऐसा कर चुकी है। मूडीज ने जीडीपी की वृद्धि दर के अनुमान को घटाकर 7.3 प्रतिशत किया है। हालांकि, भारतीय रिजर्व बैंक ने अक्तूबर में अपनी पिछली मौद्रिक समीक्षा में अपने 7.4 प्रतिशत के वृद्धि दर के अनुमान को कायम रखा है। यूबीएस ने कहा कि दूसरी छमाही में वृद्धि दर घटकर 6.7-7 प्रतिशत के दायरे में रह जाएगी, जो जून तिमाही में 8.2 प्रतिशत रही थी। इससे पूरे वित्त वर्ष की वृद्धि दर घटकर 7.3 प्रतिशत रह जाएगी।  

Related Stories:

RELATED जुलाई-सितंबर तिमाही में सुस्त पड़ी GDP ग्रोथ, घटकर 7.1% रही