रूसी विदेश मंत्री ने अमरीका की ‘प्रतिबंध पहले’ नीति की निंदा की

इंटरनैशलन डेस्कःरूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने बुधवार को अमेरिकी नीति की ङ्क्षनदा करते हुए आरोप लगाया कि अमेरिका बातचीत से पहले ही प्रतिबंध लगा रहा है। दोनों देशों के बीच इससे एक बार फिर तनाव बढ़ रहा है। 

मास्को 2014 में क्रीमिया पर कब्जे और पूर्वी यूक्रेन में अलगाववादी विद्रोहियों के समर्थन की वजह से पश्चिम और कीव की नाराजगी के बाद से बढ़ते कड़े दंडात्मक प्रावधानों का सामना कर रहा है। हाल में कथित तौर पर राष्ट्रपति चुनावों में हस्तक्षेप और ब्रिटेन में एक पूर्व जासूस को जहर दिए जाने के मामलों को लेकर अमेरिका ने रूस पर नए प्रतिबंध लगाए थे। सुदूरवर्ती पूर्वी शहर व्लादीवोस्तोक में एक आॢथक मंच के कार्यक्रम से इतर लावरोव ने युवा कूटनीतिज्ञों से कहा कि अधिकतर मामलों में, अमेरिका बातचीत करने का बहुत इच्छुक नहीं रहता।

उन्होंने कहा कि पहले वह प्रतिबंधों की घोषणा करते हैं फिर और प्रतिबंध और ’सिर्फ इसके बाद बातचीत शुरू करते हैं। उन्होंने चेतावनी दी कि ऐसी नीतियां ‘‘दीर्घकालिक सफलता’’ की तरफ नहीं ले जातीं। विदेश मंत्री ने कहा कि वह यह बात सिर्फ अमेरिका और रूस के संदर्भ में नहीं कह रहे बल्कि उत्तर कोरिया, यूरोपीय संघ और चीन के साथ अमेरिकी संबंधों में भी उसका यह तौर-तरीका नजर आता है।  

Related Stories:

RELATED केरी का ईरानी अधिकारियों से मिलना अमरीकी विदेश नीति के खिलाफ: पोम्पियो