14 साल से जिन भांजियों के मामा बने रहे शिवराज, सभा से पहले उन्हीं के उतरवा दिए 'दुपट्टे'

बैतूल: जिले के मुलताई में सीएम शिवराज सिंह चौहान की जनआशीर्वाद यात्रा कार्यक्रम के पहले पुलिस द्वारा कथित तौर पर यहां मौजूद कॉलेज की छात्राओं के काले दुपट्टे उतरवाने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि सीएम को काला झंडा दिखाने की आशंका के चलते ये चुन्नियां उतरवाईं गईं।

दरअसल मंगलवार को सीएम शिवराज की जन आशीर्वाद यात्रा बेतूल जिले के मुलताई पहुंची। यहां कार्यक्रम में कॉलेज की छात्राएं भी शामिल थी। कार्यक्रम में सभी छात्राएं स्कूली ड्रेस कोड गुलाबी कमीज, काली सलवार और काले दुपट्टे में पहुंची थी। छात्राओं ने बताया, ‘एक महिला पुलिस अधिकारी ने पहले हमारी चुन्नी उतरवाकर हमारे बैग में रखवाई और कुछ देर बाद मुख्यमंत्री के आने से पहले पुलिस ने हमारी चुन्नियां ले ली और कहा कि कार्यक्रम खत्म होने के बाद ये वापस लौटाई जाएंगी।

कांग्रेस ने घटना पर जताई निंदा
वहीं, पूर्व विधायक एवं प्रदेश कांग्रेस महासचिव सुखदेव पांसे ने इस घटना की कड़ी निंदा करते हुए कहा, ‘यह घटना मानवता को शर्मसार करने वाली है। फर्जी घोषणा करने वाले मुख्यमंत्री इतने ज्यादा भयभीत हैं कि वे छात्राओं की यूनिफार्म तक से खौफ खा रहे हैं।’ नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल ने ट्वीटर के जरिए सीएम शिवराज पर हमला बोलते हुए लिखा कि '14 साल से जिन भांजियों के मामा बने हैं शिवराजजी उनसे रिश्ते इतने खराब हो गए कि अपनी सभा में उनके दुपट्टे भी उतरवाने लगे'।



कांग्रेसियों ने रथ को दिखाए काले झंडे
जनआशीर्वाद यात्रा का रथ जैसे ही बैतूल जिला मुख्यालय स्थित लल्ली चौक पहुंचा तो वहां मौजूद कांग्रेस की दो महिला नेताओं ने मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाए। हालांकि, बाद में पुलिसकर्मियों ने दोनों महिलाओं से काला कपड़ा छीन लिया। 

Related Stories:

RELATED कमलनाथ ने शिवराज से ''विकास के नाम पर लिए करोड़ों रूपये के ऋण'' का मांगा हिसाब