फ्लाइट में मिलेगी कॉल और इंटरनेट की सुविधा, DOT की बैठक आज

बिजनेस डेस्कः विमान में यात्रा करते समय जल्द ही यात्री इंटरनेट और मोबाइल फोन का उपयोग कर सकेंगे। इनफ्लाइट कनेक्टिविटी की सुविधा पर अगले महीने तक नियम आ सकते हैं। मसौदा नियमों को अंतिम रूप देने के लिए दूरसंचार विभाग (डीओटी) आज सभी हिस्सेदारों के साथ बैठक कर रहा है। विभाग ने पहले ही मसौदा नियम बनाया है।



अक्टूबर में जारी हो सकते हैं नियम
सूत्रों का कहना है कि इसमें भारतीय सैटेलाइट या अंतरिक्ष विभाग के पैनल में शामिल सैटेलाइट का ही इस्तेमाल हो सकेगा। उड्डयन मंत्रालय, गृह मंत्रालय, अंतरिक्ष विभाग और रक्षा मंत्रालय सहित ज्यादातर हिस्सेदार मसौदा नियमों से सहमत हैं। डीओटी के एक सूत्र ने कहा, 'बहरहाल भाषा में मामूली बदलाव की जरूरत है। इसके लिए हम सभी हिस्सेदारों के साथ बैठक कर रहे हैं, जिससे आम राय बनाई जा सके। बदलाव के बाद अधिसूचना जारी होने के पहले मसौदा नियम कानून मंत्रालय के पास भेजा जाएगा।' सूत्र ने आगे कहा कि डीओटी अगले महीने अधिसूचना जारी करेगा, उसी के मुताबिक काम चल रहा है और विमान के भीतर सेवा प्रदान करने वालोंं से अक्टूबर के आखिर या नवंबर के पहले सप्ताह तक आवेदन आमंत्रित किए जाएंगे।



भारत में नहीं है अनुमति
विभाग को उम्मीद थी कि मई के अंत तक नियमों को अंतिम रूप दे दिया जाएगा लेकिन पूरी प्रक्रिया में कुछ महीने देरी हो गई। आम राय बनाने में देरी की प्रमुख वजह ढांचे को लेकर हुई, जिसमें पुख्ता सुरक्षा मानकों का प्रावधान होना था। विमान के भीतर कनेक्टिविटी से यात्रियों को यात्रा के दौरान मोबाइल फोन से कॉल करने व मैसेज भेजने की सुविधा मिल सकेगी। यह यूरोपीय संघ, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया सहित कई देशों व क्षेत्रों में लागू है और 30 से ज्यादा एयरलाइंस इन सेवाओं की पेशकश कर रही हैं। बहरहाल भारत के वायुक्षेत्र में इसकी अनुमति नहीं थी। 
 

Related Stories:

RELATED BSNL दिवाली ऑफर : अनलिमिटेड कॉलिंग के साथ मिलेगा हर रोज 2GB डाटा