दोस्ती-प्यार फिर बलात्कार

वेस्ट दिल्ली(नवोदय टाइम्स): महिलाओं की सुरक्षा का जिम्मा उठाने वाली दिल्ली पुलिस के ही एक कांस्टेबल पर महिला से दोस्ती, प्यार और फिर बलात्कार करने के साथ-साथ उसे दोस्तों के सामने परोसने का भी आरोप लगा है। पीड़िता ने एक एनजीओ की सहायता से महेन्द्रा पार्क थाने में आरोपी पुलिस वाले के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी है। पुलिस ने पुलिस वाले को हिरासत में ले लिया है। साथ ही उसके परिवार वालों से भी पूछताछ की जा रही है। जिन्होंने पीड़िता को जान से मारने की धमकी दी थी। जानकारी के मुताबिक, पीड़िता बवाना सेक्टर-3 में अपने बच्चों के साथ रहती है। जबकि आरोपी कांस्टेबल विक्रम सिंह पीसीआर पर तैनात है। महेन्द्रा पार्क थाने में पीड़िता ने आरोपी विक्रम सिंह के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराते हुए बताया कि विक्रम सिंह से उसकी मुलाकात सबसे पहले पिछले साल 25 दिसम्बर को उस वक्त हुई थी। जब उसका पड़ोसी से किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया था। विक्रम अन्य पुलिसवालों के साथ पीसीआर वैन से आया था। उसने शिकायत लिखी थी।

दोनों के बीच हो गई थी दोस्ती
विक्रम ने उसे भरोसा देकर कहा था कि आपके पड़ोस का मामला है। आप मेरा नंबर लिख लो कभी भी किसी सहायता की जरूरत पड़े तो आप मुझे बेझिझक फोन कर लेना, इसके बाद वह महिंद्रा पार्क थाने के आसपास कंप्यूटर क्लास के लिए जाती थी। विक्रम उसके इर्द-गिर्द ही घूमता रहता था। दोनों में जल्द ही दोस्ती हो गई थी। विक्रम और उसने अपनी पर्सनल जिंदगी के बारे में एक दूसरे को बता दिया था। विक्रम ने झूठ बोला था कि उसकी पत्नी मर चुकी है। उसके एक बच्चा है। जबकि उसने विक्रम को बताया था कि वह एक साल पहले अपने पति को छोड़ चुकी है। वह अपने बच्चे के साथ रहती है। विक्रम ने उसको हैदरपुर शालीमार बाग इलाके में एक कमरा दिलाया और उसके साथ वहीं टाइम बिताने लगा। अमूमन उसकी ड्यूटी नाइट में हुआ करती थी तो पूरे दिन वह उसी के पास रहता था। 

विक्रम ने कई बार किया महिला का शारीरिक शोषण
पीड़िता ने बताया कि विक्रम करीब 8 महीने से इसके साथ रिलेशन में था। शुरुआत में जब उसने विक्रम की नहीं मानी तो अपने गांव के पास बवाना इलाके में उसे ले जाकर दोबारा शिफ्ट करवाया और उसके साथ वहीं रहने लगा। पीड़िता ने बताया कि 30 दिसम्बर से सात सितम्बर तक विक्रम ने उसका कई बार शारीरिक शोषण किया और फिर उसको अपने दोस्तों के सामने परोसने की कोशिश की। विरोध करने पर विक्रम ने उसकी पिटाई भी की। अब उसका परिवार भी उसको जान से मारने की धमकी देता है। विक्रम की बातों का जब विरोध कर समाज के सामने उसकी हरकतों को उजागर करने की बात कही। विक्रम ने उसको जान से मारने की धमकी दी। जब उसने विक्रम के चंगुल से भागने की कोशिश की। उसको जबरन बंधक बनाकर रखा। 

महिला ने ली थी समाजसेवी संस्था की मदद
इस बीच विक्रम ने उसका तीन बाद गर्भपात भी कराया। कुछ दिन पहले भी विक्रम ने अस्मिता क्लिनिक में उसका तीन महीने एक हफ्ते के बच्चे का गर्भपात जबरन करा दिया था। विक्रम क्लिनिक में लावारिस हालत में छोड़कर चला गया था। जब उसे होश आया। फोन पर उसके परिवार वालों ने उसे जान से मारने की धमकी दी।  पीड़िता ने बताया कि करीब दो महीने पहले एक समाजसेवी संस्था से विक्रम की हरकतों का पर्दाफाश करने के लिए सहायता ली। एनजीओ के साथ केस रजिस्टर्ड कराने बवाना थाने पहुंची। वहां पर बोला गया कि  यह सारा मामला महेन्द्रा पार्क थाने का है। जहां पर समाजसेवी संस्था के अधिकारियों के साथ जाकर विक्रम के खिलाफ मामला दर्ज कराया। 

Related Stories:

RELATED महिंद्रा का दूसरी तिमाही में शुद्ध लाभ 23.87 प्रतिशत बढ़ा