आज से घर बैठे मिलेगी ड्राइविंग लाइसेंस-राशन कार्ड जैसी 40 सेवाएं

नई दिल्ली: अगर आप दिल्ली के निवासी है और ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के चक्कर में आरटीओ कार्यालय के चक्कर काटते काटते परेशान हो गए हैं तो यह खबर आपके लिए है। अब ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने या अपने वाहन की आरसी(पंजीकरण प्रमाणपत्र)में कोई बदलाव करवाने के लिए आपको किसी दफ्तर के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं है।
 



दिल्ली के सीएम केजरीवाल आज से ड्रीम प्रोजेक्ट डोर स्टेप डिलिवरी योजना की शुरुआत करेंगे। इस योजना के शुरू होते ही लोग अपनी मर्जी से अपने फ्री समय में घर बैठे बर्थ जन्म और जाति प्रमाण-पत्र, राशन कार्ड जैसे डॉक्युमेंट्स बनवा सकते हैं। किसी भी ऑफिस जाने की जरूरत नहीं होगी।  दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दावा किया है कि यह सिर्फ देश में ही दुनिया में पहली ऐसी सरकार जो सीधे आम लोगों के घरों तक सुविधा पहुंचाने की कोशिश कर रही है।  नागरिकों को सेवा के बदले इन सहायकों को 50 रुपए की फीस देनी होगी। सरकार एजेंसी के जरिए इन सहायकों को काम पर रखेगी।



दिल्ली सरकार की होम डिलीवरी स्कीम का पहला चरण आज से शुरू हो रहा है, इस योजना के तहत राजस्व विभाग, सामाजिक कल्याण विभाग, परिवहन विभाग, जल बोर्ड, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग, श्रम विभाग, अनुसूचित जाति-जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक कल्याण विभाग की कुल 40 सेवाएं शामिल हैं। आईए जानते हैं ट्रांसपोर्ट से जुड़ी कौन सी सुविधाएं आपको घर बैठे मिलेंगी। 

  •   लर्निंग लाइसेंस
  •   परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस
  •   ड्राइविंग लाइसेंस का रिन्यूअल
  •   डुप्लीकेट ड्राइविंग लाइसेंस
  •   ड्राइविंग लाइसेंस में पता बदलना
  •   डुप्लीकेट क्रष्ट
  •   क्रष्ट में पता बदलना
  •   ओनरशिप का ट्रांसफर
  •   हाइपोथेकेशन एडिशन
  •   हाइपोथेकेशन टर्मिनेशन




कॉल सेंटर पर करना होगा फोन
सातों विभागों की सेवाओं के लिए एक कॉल सेंटर बनाया गया है। सबसे पहले आपको इस पर कॉल करना होगा। यहां बताना होगा कि आपको किस विभाग की कौन सी सेवा के लिए आवेदन करना है। इसके बाद मोबाइल सहायक बायोमिट्रिक मशीन व कैमरे के साथ आवेदनकर्ता के पते पर पहुंचेगा और औपचारिकताएं पूरी करेगा।

मोबाइल सहायक घर आएगा
कॉल सेंटर से आपको सेवा के लिए जरूरी दस्तावेजों के बारे में बताया जाएगा। इसके बाद मोबाइल सहायक आपके घर पहुंचेगा। सहायक आपको यह भी बताएगा की यह लगभग कितने दिनों में पूरा होगा। बनने के बाद आपका प्रमाण पत्र आपके घर डिलिवर कर दिया जाएगा। सात विभागों के लिए एक ही कॉल सेंटर और नंबर होगा। अगर आप सुविधानुसार समय बदलवाना चाहते हैं, तो यह सुविधा भी मिलेगी।

1076 करेगा सारा काम !
दिल्ली सरकार ने इस काम की जिम्मेदारी वीएफएस प्राइवेट लिमिटेड नाम की कंपनी को दी है। ये कंपनी शहर में अपने 11 कॉल सेंटर बनाएगी, कोई भी व्यक्ति 1076 पर डायल कर सीधे संपर्क कर सकता है। डोर स्टेप डिलीवरी सर्विस का लाभ लेने के लिए सुबह 8 बजे से रात 9 बजे तक का कॉल कर स्लॉट चुनना होगा।

हर माह 33 हजार से अधिक लाइसेंस 
जानकारी मुताबिक दिल्ली में हर साल चार लाख लाइसेंस जारी होते हैं। यानि हर माह 33 हजार से अधिक लर्निंग लाइसेंस के लिए लोग परीक्षा देने अलग-अलग 13 एमएलओ कार्यालय में जाते हैं। सेवा के शुरू होने से वे घर बैठे आवेदन कर पाएंगे।

'दलालों पर लगेगी लगाम'
इस योजना के साथ ही अब दलालों का धंधा बंद हो जाएगा। अभी लोगों को इन सुविधाओं के लिए भटकना पड़ता है और इस बीच कई बार लोग दलालों के चक्कर में पड़ जाते हैं। इस स्कीम के चलते ही यह समस्या खत्म हो जाएगी

 

Related Stories:

RELATED दिल्ली सचिवालय में CM केजरीवाल पर मिर्ची पाउडर से हमला