मुकुटबिहारी पर राजभर का पलटवार- उनके रिश्तेदार SC में होंगे, जो राम मंदिर के पक्ष में फैसला दे दें

वाराणसीःसुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में कबीना मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने कैबिनेट मंत्री मुकुटबिहारी के राम मंदिर निर्माण को लेकर दिए गए बयान पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि मुकुटबिहारी के रिश्तेदार सभी सुप्रीम कोर्ट में होंगे, जो उनके कहने पर राम मंदिर के पक्ष में फैसला दे दें। एेसी बयानबाजी दिमाग को दिग्भ्रमित करने के लिए आती है। ये सब जुमलेबाजी है और कुछ नहीं।

SC/ST एक्ट पर जो निर्णय आया, उससे बहुत से लोग दुखी
एससी/एसटी एक्ट मामले में राजभर ने कहा कि बीजेपी सुप्रीम कोर्ट के फैसले के साथ है। जो निर्णय आया है उससे बहुत से लोग दुखी हैं। एक कहावत है 'जाके पैर न फटी बिवाई, वो क्या जाने पीर पराई'। एससी/एसटी एक्ट में विवाद होता है 2 या 3 आदमी से और मुकदमें में 7 या 8 आदमी के नाम आते हैं। जिस निर्दोष पर मुकदमा लिखा जाता है वो बेचारा चिल्लाता है, लेकिन सुनी नहीं जाती है। 

बसपा सरकार में इस एक्ट का बड़े पैमाने पर हुआ था दुरुपयोग 
उन्होंने कहा कि जब बसपा की सरकार थी तब भी इस एक्ट का बड़े पैमाने पर दुरुपयोग हुआ था। तब मायावती एक अध्यादेश ले आईं थी कि सीओ स्तर से जांच कराकर ही मुकदमा पंजीकृत होगा। जो जांच में फर्जी पाया जाता है उसके खिलाफ भी मुकदमा लिखकर जेल भेजा जाएगा। सुप्रीम कोर्ट ने भी यही बात कही है। हम लोकसभा और राज्यसभा के फैसले के साथ नहीं हैं। हम हाईकोर्ट के फैसले के साथ हैं।

आजम खान के प्रधानमंत्री वाले बयान पर साधा निशाना
आजम खान के खुद को प्रधानमंत्री बनाने की बात और बीजेपी को सभी मोर्चों पर फेल होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि आपको भी पीएम बनाया जाए तो क्या आप इनकार करेंगे? आजम खान की सरकार रही तो उन्होंने क्यों नहीं विवाद सुलझाया? ये लोग झगड़ा पाल कर रखते हैं, निपटा कर नहीं। जनता जानती है कि नेता लोग वोट के लिए लड़ाते हैं। लड़कर कितने लोग मर गए, क्या एक भी नेता मरा है?

मोर्चा बनाना बहुत आसान लेकिन चलाना कठिन: राजभर
शिवपाल के मोर्चे पर उन्होंने कहा कि मोर्चा बनाना बहुत आसान है, लेकिन चलाना बहुत कठिन है। हम झेल कर देख रहे हैं। पत्रकार द्वारा पूछने पर कि सीएम योगी कह रहे हैं जो अपने पिता और चाचा का नहीं हुआ वो आपका क्या होगा इस पर आप क्या कहेंगे। इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उनके पास ज्यादा अनुभव है। क्या मां-बाप से झगड़े नहीं होते हैं। मैं दावे के साथ कह रहा हूं कि जिस दिन चुनाव का बिगुल बजेगा उस दिन अखिलेश यादव के मंच से मुलायम सिंह भाषण देते नजर आएंगे। 

पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने से महंगाई में हुई बढ़ोतरी 
राजभर ने कहा कि पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने से महंगाई में बढ़ोतरी हुई है। महंगाई की मार गरीब, किसान और मजदूर को पड़ती है फिर वो दुःखी होकर नुकसान पहुंचाता है। प्रदेश की सरकारें पेट्रोल-डीजल पर टैक्स कम करे तो महंगाई को कंट्रोल किया जा सकता है। 

हजरतगंज का नाम बदलने पर राजभर ने उठाए सवाल
लखनऊ के हजरतगंज का नाम बदलकर अटल जी पर रखे जाने पर उन्होंने कहा कि नाम बदलने से कुछ नहीं होता। मुगलसराय स्टेशन का नाम बदल दिया गया, लेकिन अभी भी ट्रेन लेट चल रही हैं।

Related Stories:

RELATED राजभर की ओवैसी को नसीहत- अपनी कौम पर दें ध्यान