उत्तर कोरिया ने 70वीं वर्षगांठ पर निकाली सैन्य परेड, पर नहीं दिखाई आईसीबीएम

प्योंगयांगः उत्तर कोरिया ने अपनी स्थापना की 70 वीं वर्षगांठ पर रविवार को सैन्य परेड निकाली लेकिन वह अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइलों के प्रदर्शन से बचा। ये मिसाइलें अमेरिका के मुख्य भूभाग तक मार करने में सक्षम हैं।


प्योंगयांग के मध्य में किम जोंग उन के समक्ष जवानों, तोपों और टैंकों का प्रदर्शन किया गया। परेड में दिखाई गई सबसे बड़ी मिसाइलें छोटी दूरी की बैटलफील्ड डिवाइसेस थी। जनवादी लोकतांत्रिक कोरिया गणराज्य की स्थापना 1948 में हुई और रविवार को वह अपनी 70वीं वर्षगांठ मना रहा है। इसे आधिकारिक तौर पर उत्तर कोरिया कहा जाता है।  

वाशिंगटन में थिंक टैंक ब्रूकिंग्स इंस्टीट्यूशन के इवांस रीवेरे ने कहा कि उत्तर कोरिया में वर्षगांठ महत्वपूर्ण होती है और इस साल वाली भी अहम है। ये अवसर नेताओं के लिए उपलब्धियों और राष्ट्रीय शक्ति को प्रर्दिशत करने तथा उन्हें श्रेय देने का मौका होता है।’’
    

Related Stories:

RELATED उत्तर कोरिया ने किया नए हाई-टैक हथियार का परीक्षण