मर गई मां की ममता,मासूम को सड़क पर फैंका

बरनाला (विवेक सिंधवानी,गोयल):जिस समय सारा शहर श्री कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व मनाने की तैयारियां कर रहा था उस समयगत रात 10 बजे के करीब लगभग एकसप्ताह पहले नवजन्मी बच्ची रेलवे कालोनी में से कपड़े में लिपटी हुई मिली। 

बच्चे की रोने की आवाज सुनकर रेलवे कालोनी के लोग एकत्रित हो गए व एक पेड़ के नीचे नवजन्मी बच्ची को कपड़े में लिपटी पड़ी देखकर हैरान रह गए। लोगों ने इसकी सूचना रेलवे पुलिस को दी। रेलवे पुलिस चौकी के इंचार्ज गुरमेल सिंह ने बताया कि रेलवे क्वार्टर नंबर ई-24 समीप बरगद केपेड़ के नीचे यह बच्ची कपड़े में लिपटीपड़ी थी। हम जल्द ही उसको सिविल अस्पताल के एमरजैंसी वार्ड में लेकर गए। 

रेलवे पुलिस चौकी के हवलदार राम लाल ने उस बच्ची को अस्पताल में दाखिल करवाया। एमरजैंसी में से उसको शिफ्ट करके नर्सरी में भेजा गया। डाक्टरों अनुसार बच्ची बिल्कुल स्वस्थ है। उसका वजन 2 किलो 800 ग्राम के करीब है।  रैड क्रास के सचिव विजय गुप्ता से बातचीत की तो उन्होंने कहा कि चाइल्ड वैल्फेयर कमेटी की सहमति से इस बच्ची को भूरी वाले आश्रम लुधियाना को सौंपा जा रहा है उनके पास बच्चे गोद लेने संबंधी एक लिस्ट बनी होती है, जिनको वह मुनासिब समझते हैं उनके द्वारा बच्चे को जरूरतमंद परिवार को कोर्ट द्वारा गोद दे दिया जाता है।

Related Stories:

RELATED रेलवे पटरी पर कूड़े को आग लगाकर पैदा किया जा रहा था प्रदूषण