भिखारियों की बढ़ रही संख्या को लेकर पुलिस की नई पहल- भीख मांंगने वालों का होगा DNA टेस्ट

देहरादूनः उत्तराखंड में भिखारियों की बढ़ रही संख्या को लेकर पुलिस विभाग सतर्क दिखाई दे रहा है। इसी के चलते पुलिस के द्वारा नई पहल कर भिखारियों का सत्यापन करवाया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार, उत्तराखंड में भिक्षावृति को रोकने के लिए पुलिस के द्वारा अभियान चलाया जा रहा है। इसके साथ ही खासतौर पर पुलिस के द्वारा बच्चों को भिक्षावृति में लाने के कारणों की तलाश की जा रही है। इतना ही नहीं डीजी लॉ एंड आर्डर अशोक कुमारने बताया कि पुलिस के द्वारा भिक्षावृति मांंगने वाले बच्चों और उनके परिजनों का डीएनए टेस्ट भी करवाया जाएगा ताकि झूठे माता-पिता बनकर बच्चों से जबरदस्ती भीख मांगने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा सके।

वहीं राज्य में बढ़ती हुई भिक्षावृति को रोकने के लिए पुलिस अब एक नई पहल करने जा रही है। भिक्षावृति में संलिप्त बच्चों को स्कूल में शिक्षा दिलवाने के लिए पुलिस के द्वारा रुपरेखा तैयार की जा रही है। इसके साथ ही पुलिस मुख्यालय में संस्थाओं और समाजसेवा से जुड़े कई लोगों से भी बातचीत की जा रही है। पुलिस का कहना है कि अभियान के दौरान बच्चे भिक्षावृति को छोड़ देते हैं लेकिन वापस फिर इसी काम में शामिल हो जाते हैं।

Related Stories:

RELATED ग्रामीणों ने थाने के बाहर पुलिस के खिलाफ किया प्रदर्शन