नीट यूजी काऊंसलिंग : नए रजिस्ट्रेशन के लिए हाईकोर्ट जाएगी APDCMP

निजीडैंटल कॉलेजों में नीट यूजी काऊंसलिंग के दो चरण पूरे होने के बाद भी बीडीएस की 674 सीटें खाली हैं। इन सीटों पर नीट यूजी 2018 क्वालीफाई स्टूडेंट्स को दाखिला मिले, इसके लिए चिकित्सा शिक्षा विभाग के पोर्टल पर नए स्टूडेंट्स को रजिस्ट्रेशन का मौका दिया जाए। ताकि रजिस्ट्रेशन न होने के कारण काऊंसलिंग से बाहर रहे 27 हजार स्टूडेंट्स डेंटल में दाखिले के लिए रजिस्ट्रेशन करा सकें। यह प्रस्ताव बुधवार को एसोसिएशन ऑफ प्राइवेट डैंटल कॉलेज मध्यप्रदेश (एपीडीसीएमपी) ने संचालक चिकित्सा शिक्षा को दिया है। साथ ही खाली सीटों को भरने के लिए काऊंसलिंग पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन शुरू कराने के लिए हाईकोर्ट में याचिका लगाने का फैसला लिया है। 

 

कई राज्यों में फ्रेश रजिस्ट्रेशन का है प्रावधान 
एपीडीसीएमपी के अध्यक्ष गुरशरण सिंह कीर ने बताया कि उत्तरप्रदेश, पंजाब और राजस्थान में सरकारों ने नीट यूजी काउंसलिंग में प्रत्येक राऊड की काऊसलिंग के बाद फ्रेश रजिस्ट्रेशन का प्रावधान किया है। जबकि मप्र में चिकित्सा शिक्षा विभाग ने नीट यूजी काऊसलिंग में एक बार नीट यूजी क्वालीफाई स्टूडेंट्स को रजिस्ट्रेशन की सुविधा दी है। इस वजह से राज्य के नीट क्वालीफाई 27 हजार स्टूडेंट स्टेट कोटे की सीट पर दाखिले के लिए हुई काऊंसलिंग में शामिल नहीं हो पा रहे हैं। सरकार ने अगर दूसरे राज्यों की तरह प्रदेश प्रत्येक राऊंड की काऊंसलिंग के बाद रजिस्ट्रेशन लाइन ओपन की होती तो डेंटल कॉलेजों में 59 प्रतिशत सीटें खाली नहीं होती। 

 

रजिस्ट्रेशन लाइन ओपन कराने हाईकोर्ट में याचिका लगाएंगे 
 कीर ने बताया कि नीट यूजी काउंसलिंग में रजिस्ट्रेशन लाइन ओपन कराने के लिए मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में याचिका लगाएंगे। उन्होंने बताया कि चिकित्सा शिक्षा विभाग के अफसर निजी डेंटल कॉलेजों की खाली सीटों को भरने के लिए गंभीर नहीं है। काउंसलिंग कमेटी जब नियम बना रही थी, तभी प्रत्येक राउंड की काउंसलिंग के बाद रजिस्ट्रेशन लाइन ओपन करने का सुझाव दिया था। लेकिन, अफसरों ने सुझावों को अनदेखा कर मनमर्जी के प्रवेश नियम बनाए। 

 

जुलानिया बोले- नए रजिस्ट्रेशन नहीं होंगे 
  चिकित्सा शिक्षा विभाग के एसीएस राधेश्याम जुलानिया ने बताया कि नीट यूजी काउंसलिंग में नए रजिस्ट्रेशन काउंसलिंग पोर्टल पर नहीं होंगे। निजी काॅलेज संचालक अगर नए रजिस्ट्रेशन की अनुमति चाहते हैं, तो हाईकोर्ट में याचिका लगाएं। नीट यूजी काउंसलिंग में अभी भी 4 हजार रजिस्टर्ड स्टूडेंट की काउंसलिंग शेष है। 

× RELATED IIMA में  पढ़ाते नजर आएंगे पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी