NCLT ने टाटा टेलीर्सिवसेज के भारती एयरटेल में विलय को दी मंजूरी

नई दिल्लीः राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) ने घाटे में चल रही टाटा टेलीर्सिवसेज के भारती एयरटेल में विलय को मंजूरी दे दी है।   इस विलय के लिए दूरसंचार विभाग की स्वीकृति आवश्यक है।  भारती एयरटनेल ने बीएसई को दी गयी जानकारी में कहा है, माननीय राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण, नयी दिल्ली की प्रधान पीठ ने 17 जनवरी, 2019 के अपने आदेश के जरिए टाटा टेलीर्सिवसेज लिमिटेड, भारती एयरटेल लिमिटेड और भारती हेक्साकॉम लिमिटेड एवं उनके हितधारकों एवं ऋणदाताओं के बीच व्यवस्था की समग्र योजना को मंजूरी दे दी है।’’  

भारती हेक्साकॉम, भारती एयरटेल की अनुषंगी है।      घाटे में चल रही टाटा टेलीर्सिवसेज ने अक्टूबर, 2017 में भारती एयरटेल में विलय की घोषणा की थी। इस सौदे में एयरटेल ने घाटे में चल रही टाटा टेलीर्सिवसेज के करीब 40,000 करोड़ रुपये के कर्ज में से कुछ भी अपने ऊपर नहीं लिया और न ही इसके लिये कोई नकद भुगतान किया।  

Related Stories:

RELATED सरकार सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक के विलय के अन्य प्रस्ताव पर विचार नहीं कर रही