चांद के बाद अब सूरज के पर पहुंचेगा इंसान!

इंटरनैशनल डेस्कःअमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा की शनिवार ऐतिहासिक यात्रा शुरू है। नासा का बनाया यान पार्कर सोलर प्रोब सूरज के सबसे नजदीक पहुंचने वाला इंसान का बनाया पहला यान होगा।
PunjabKesari
सूरज को छूने के लिए डिजाइन किए गए 1.5  अरब डॉलर का यह अंतरिक्ष यान कार के आकार है और यह सीधे सूर्य के कोरोना के चक्कर लगाएगा। यह शनिवार को भारतीय समयानुसार दिन में 1 से 1.30 बजे के बीच नासा के केनेडी स्‍पेस सेंटर से रवाना किया जाएगा।

उड़ान भरने मे मौसम है सबसे बड़ी चिता
पार्कर सोलर प्रोब से जुड़ी टीम को इस यान की उड़ान से संबंधित सिर्फ मौसम की चिंता है। मौसम सही होने पर ही यह यान उड़ान भर सकेगा। एयरफोर्स की मौसम अधिकारी कैथी राइस ने एक न्‍यूज कॉन्‍फ्रेंस में कहा कि शनिवार को लांच के लिए 65 मिनट का समय होगा। इस दौरान अगर मिशन लांच नहीं हो पाया तो मुश्‍किल हो सकती है।
PunjabKesari
इस समय के बाद उड़ान भरने पर यान को धरती के चारों ओर मौजूद वैन एलेन बेल्‍ट से परत से नुकसान पहुंचने का खतरा है। इससे पहले 8 अगस्‍त को यान का लांच रिहर्सल अच्‍छा रहा था। शनिवार को लांच असफल होने पर रविवार को एक बार फिर उसी समय के आसपास प्रयास किया जाएगा। 
PunjabKesari
पहली बार होगा एेसा 
अगले कुछ वर्षों में यह यान सूर्य से करीब 61 लाख किलोमीटर दूर से इसके चक्कर लगाएगा। यह दूरी अब तक सूर्य पर भेजे गए सभी शोध यानों से सात गुना कम होगी। ऐसा पहली बार होगा जब कोई यान सूर्य के इतने नजदीक होगा। हर परिक्रमा के साथ ये सूर्य के और नजदीत आता जाएगा। इस शोध यान की लंबाई 9 फीट और 10 इंच है। वहीं इसका वजन 612 किग्राम है। सोलर प्रोब को सूरज के ताप से बचान के लिए इसमें स्पेशल कार्बन कंपोजिट हीट शिल्ड लगाई गई है। 
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!