नाले की गैस से चाय बनाकर फेमस हुआ ये चायवाला, 10 दिन में दोगुनी हुई कमाई

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वर्ल्ड बायोफ्यूल डे पर दिया गया भाषण तो आप सभी को याद ही होगा, जिसमें उन्होंने नाले से निकलने वाली गैस को स्टोर कर कुकिंग की बात कही थी। मोदी के इस भाषण को सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल किया गया था लेकिन साहिबाबाद के रामू चायवाले ने प्रधानमंत्री की कही बात को सच कर के भी दिखा दिया है।

PunjabKesari

मोदी के कथन के बाद फेमस हो गया चायवाला
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कथन के बाद से रामू चायवाला भी फेमस हो गया है और उसके दुकान पर ग्राहकों की संख्या भी रोज बढ़ती जा रही है। पहले नाले की बात सुनकर लोग कतराते थे, लेकिन स्वाद में कोई फर्क नहीं लगा तो अब आराम से चुस्की ले रहे हैं। नाले से निकले वाली गैस का इस्तेमाल कर के रामू ना सिर्फ पर्यावरण को बचा रहे हैं बल्कि गैस सिलेंडर पर होने वाले खर्च को भी बचा रहे हैं।

PunjabKesari

घर से लेकर चलते हैं चूल्हा और अन्य सामान
इंद्रप्रस्थ इंजिनियरिंग कॉलेज, साहिबाबाद के सामने से सूर्य नगर का नाला आ रहा है, इसी नाले के अंदर से पाइपों का एक जाल बगल की चाय की ठेली में जाता है। यह ठेली कड़कड़ मॉडल निवासी रामू की है जिन्हें लोग रामू चायवाला भी बोल के संबोधित करते हैं। रामू बताते हैं कि रोज सुबह 7 बजे वह अपनी साइकल पर घर से चूल्हा और अन्य सामान लेकर निकलते हैं। रेहड़ी पर पहुंचते ही चाय बनाने का सिलसिला शुरू होता है।


PunjabKesari

10 दिन में ही हो गई 5 हजार रुपए की कमाई
उन्होंने बताया कि वह काफी दिनों से इस जगह पर चाय बनाते आ रहे है, पहले वह सिलेंडर पर ही चाय बनाया करते थे और महीने में 5 हजार रुपए तक कमा लेते थे जिसमें से 1200 रुपये सिलेंडर पर ही खर्च हो जाते थे।  दो सप्ताह पहले उनकी मुलाकात कॉलेज के छात्रों से हुई जिनकी मदद से उन्होंने यहां नाले की गैस से चाय बनाना शुरू किया। इस तकनीक से उनके एलपीजी के 1200 रुपए भी बचने लगे और 10 दिन में ही 5 हजार रुपए की कमाई भी हो गई है।

अपने क्षेत्र में हीरो बन गए हैं रामू
वर्ल्ड बायोफ्यूल डे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के बाद से तो मानो वह अपने क्षेत्र के हीरो बन गए हैं और जो ग्राहक पहले नाले की गैस की चाय सुनकर दूर भागते थे वह अब यहां बड़ी संख्या में आने लगे हैं।  साथ ही रामू चायवाले को प्रसिद्धि भी मिल रही है। जिन दो छात्रों ने उनकी मदद की थी उनके नाम अभिषेक वर्मा और अभिनेंद्र पटेल जो बी.टेक की पढ़ाई कर रहे हैं।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!