अटल जी का अस्थि कलश लेकर मनाली पहुंचीं नमिता भट्टाचार्य, ब्यास नदी में होगा विसर्जन

कुल्लू: भारत रत्न स्व. अटल बिहारी वाजपेयी जी की दत्तक बेटी नमिता भट्टाचार्य मनाली पहुंच गई हैं। एस.पी.जी. के कड़े सुरक्षा घेरे में नमिता, उनके पति रंजन भट्टाचार्य और परिवार के अन्य सदस्य भुंतर स्थित हवाई अड्डे पर पहुंचने के बाद सड़क मार्ग से मनाली के प्रीणी गांव पहुंचे। अटल बिहारी वाजपेयी के अस्थि कलश को मनाली में विसर्जित किया जाएगा। भुंतर में प्रशासन की ओर से नमिता भट्टाचार्य को रिसीव किया गया और उसके बाद उन्हें मनाली ले जाया गया। मनाली में भी अधिकारियों ने उन्हें रिसीव किया और उनके घर प्रीणी तक ले जाया गया।
PunjabKesari
वीरवार सुबह मनाली पहुंचेंगे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर वीरवार सुबह मनाली पहुंचेंगे। इस दौरान वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर, अन्य मंत्री व भाजपा कार्यकर्ता साथ रहेंगे। इसके बाद अटल जी के अस्थि कलश को मनाली के बाहंग में ब्यास नदी में विसर्जित किया जाएगा। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर वीरवार को ही अस्थि विसर्जन के बाद वापस लौटेंगे जबकि नमिता भट्टाचार्य व परिवार के अन्य लोग शुक्रवार को मनाली से दिल्ली लौटेंगे। मनाली के एस.डी.एम. रमन घरसंगी ने कहा कि नमिता भट्टाचार्य परिवार के अन्य लोगों के साथ मनाली पहुंच गई हैं।
PunjabKesari
अटल जी का दूसरा घर था मनाली
बता दें कि मनाली के प्रीणी में अटल जी का घर है। इसे वह अपना दूसरा घर मानते थे। वह यहां अक्सर आते थे। मनाली प्रवास के दौरान उन्होंने कई कविताएं भी लिखीं थीं। अब मनाली में उनकी अस्थियां ब्यास नदी में विसर्जित की जाएंगी।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED प्रीणीवासियों से मिलकर भावुक हो उठीं नमिता भट्टाचार्य, अटल जी का अस्थि कलश ग्रामीणों को सौंपा