नाबालिगा से दुराचार मामले में दोषी करार

चंडीगढ़ (संदीप): नाबालिगा से दुराचार मामले में जिला अदालत ने महेंद्र को दोषी करार दिया है। अदालत दोषी को बुधवार को सजा सुनाएगी। वहीं इस केस में महेंद्र के चाचा सोमपाल पर उसका साथ देने के आरोप थे लेकिन पुलिस अदालत में सोमपाल पर लगाए आरोपी साबित नहीं कर सकी जिसके चलते उसे बरी कर दिया गया। संबंधित थाना पुलिस ने नाबालिगा के पिता की पिता की शिकायत पर केस दर्ज किया था। 

 

शिकायत में उसके पिता ने कहा था कि उन्होंने अपनी सबसे बड़ी बेटी को अपने बहनोई के पास रहने के लिए भेजा था। 16 अगस्त 2017 को उनके बहनोई का फोन आया जिसने बताया कि उनकी बेटी बिना किसी को बताए घर से कहीं चली गई है। कुछ दिनों के बाद उनकी बेटी रेलवे स्टेशन पर मिली। उसने बयानों में कहा कि वह अपनी मर्जी से बुआ के घर चली गई थी। 

 

अदालत के आदेश पर उनकी बेटी को सैक्टर-15 स्थित आशियाना में भेज दिया गया। पहले उसने अपना मैडीकल करवाने से भी मना कर दिया लेकिन बाद में चाइल्ड हैल्पलाइन की टीम ने उससे बात की तो वह मैडीकल करवाने के लिए मान गई थी। उसने अदालत में दोबारा बयान दिए और कहा कि महेंद्र ने उसके साथ दुराचार किया जिसमें उसके चाचा सोमपाल ने उसकी मदद की थी।

Related Stories:

RELATED तोंगा प्रवासी मजदूर कत्ल केस में 2 महिलाओं सहित 3 दोषी करार