मुंबईः अस्पताल में लगी आग में 6 महीने के बच्चे समेत 8 की मौत, 28 की हालत गंभीर

मुंबईः  मुंबई के अंधेरी में कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) कामगार अस्पताल में आग लगने से झुलसे तीन अन्य लोगों की मौत हो गई जिससे मृतकों की संख्या बढ़कर आठ हो गई। आग में 145 झुलसे लोगों में से 28 की हालत गंभीर है।  दमकल विभाग के अधिकारी ने बताया कि यहां की पांच मंजिला इमारत की चौथी मंजिल पर सोमवार को शाम चार बजे आग लगी, जिसे बुझाने में तीन घंटे लगे। पीड़ितों में एक छह महीने का बच्चा भी है। सरकार ने आग में मरने वालों के परिजनों को 10 लाख रुपए सहायता राशि देने की घोषणा की है। 

श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘ केन्द्रीय श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री संतोष कुमार गंगवार ने दुर्घटना में मरने वालों के परिजनों को 10 लाख रुपए, गंभीर रूप से घायलों को दो लाख रुपए और मामूली रूप से घायल हुए लोगों को एक लाख रुपये सहायता राशि देने की घोषणा की है।’’ गंगवार, श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के सचिव और ईएसआईसी के महानिदेशक मंगलवार को अस्पताल का दौरा कर पीड़ितों एवं उनके परिजनों से मिलेंगे। 




मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि आग के कारणों का अभी तक पता नहीं चला, प्राथमिक रिपोर्ट में बताया गया कि अस्पताल की मरम्मत के लिए भूतल पर रखी सामग्री में आग लगने से इमारत में आग फैली। इमारत की एक खिड़की में शॉर्ट सर्किट होने से आग लगने की आशंका है। आग लगने के दूसरे दिन मंगलवार को इस अस्पताल के कर्मचारियों ने इमारत के बाहर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने अपने हाथों में पोस्टर लेकर आरोप लगाया कि अस्पताल में सुविधाएं अपर्याप्त हैं। उन्होंने दावा किया कि पिछले कुछ वर्षों में अस्पताल में प्रशासन द्वारा अग्नि सुरक्षा नियमों का उल्लंघन किया जा रहा है। 



अधिकारी ने बताया, ‘‘ आग बुझाने का काम जारी है। अस्पताल के आम रास्ते से आठ से 10 लोगों को बचाया गया। यह रास्ता अस्पताल की इमारत को एक निर्माणाधीन इमारत से जोड़ता है।‘‘

Related Stories:

RELATED दस साल से कोमा में पड़ी महिला ने जन्मा बच्चा, हॉस्पिटल स्टाफ हैरान