कनाडा में पायलेट की नौकरी छोड़ लौटी भारत, देश के लिए करेगी अब ये काम

नई दिल्ली: कहते हैं मां-बाप अपने बच्चों के सपने हमेशा पूरे करने में लगे रहते हैं लेकिन अगर बच्चे भी अपने मां बाप को समझेें तो क्या कहने। ऐसा ही कुछ किया मुकीमपुर की बेटी मीना आंतिल ने जो अमेरिका में पढ़ाई करके कैप्टन बन गई और वह कनाडा में नौकरी करके प्लेन उड़ाने लगी। लेकिन माता-पिता का सपना था कि बेटी अपने ही देश में आकर नौकरी करे तो उनका सपना पूरा करने को बेटी ने कनाडा से नौकरी छोड़ दी।

 वह अब अपने ही देेश में प्लेन उड़ाएगी, जिसके लिए उसने एक प्राइवेट एयरलाइंस में कैप्टन के पद पर ज्वाइन कर लिया है। मीना आंतिल के रविवार को गांव में पहुंचने पर स्वागत किया गया।

मीना आंतिल ने कहा कि पिता महावीर आंतिल व माता सुनीता आंतिल के सहयोग से उसने यह मुकाम हासिल किया है। परिजनों ने उसे पढ़ने के लिए अमेरिका भेजा था। जहां पढ़ाई पूरी करके वह कैप्टन बन गई और वह पिछले दस साल से कनाडा में रहकर नौकरी कर रही थी। 


मीना का बचपन से ही सपना था कि वह एयरलाइंस में जाए। अपने सपने को साकार करने के लिए माता-पिता सहित समस्त परिवार ने उसका साथ दिया। मीना ने सभी लोगों से अपील करते हुए कहा कि वह अपनी बेटियों को भी शिक्षित कर उसके सपने को पूरा करने में योगदान दें। मीना ने गांव के राजकीय प्राथमिक पाठशाला व मंदिर में ढाई-ढाई लाख रुपये देने की घोषणा की।

Related Stories:

RELATED पैसे लेकर भी कनाडा में नहीं दिलवाई जॉब, फोरम ने ठोका 35 हजार हर्जाना