जेट एयरवेज को संकट से उबारेंगे मुकेश अंबानी, कर सकते हैं बड़ा निवेश

बिजनेस डेस्कः बुधवार (17 अप्रैल) रात से जेट एयरवेज का परिचालन बंद है। लंबे समय से कंपनी घाटे में चल रही है और उसे विमानों का परिचालन जारी रखने के लिए हजारों करोड़ की जरूरत है लेकिन बैंकों ने तत्काल राहत देने से मना कर दिया है। तमाम बुरी खबरों के बीच जेट एयरवेज के लिए एक अच्छी खबर आई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, देश के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी जेट में हिस्सेदारी खरीदना चाहते हैं। 

Etihad के जरिए जेट में करेंगे खरीदेंगे हिस्सेदारी
रिपोर्ट के मुताबिक, मुकेश अंबानी की कंपनी Reliance Industries ltd. एतिहाद एयरवेज के जरिए जेट में हिस्सेदारी खरीदना चाहती है। हालांकि, अभी उनकी कंपनी ने इसके लिए जेट एयरवेज के पास एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट (EoI) नहीं जमा किया है। फिलहाल जेट एयरवेज में एतिहाद की हिस्सेदारी 24 फीसदी है। कंपनी ने जेट को खरीदने के लिए EoI भी जमा किया है। ऐसी संभावना है कि मुकेश अंबानी एतिहाद के जरिए जेट में निवेश करके उसे राहत पहुंचा सकते हैं। ऐसे में एतिहाद की हिस्सेदारी जेट एयरवेज में 49 फीसदी हो जाएगी।

एयर इंडिया में भी है अंबानी का इंटरेस्ट
जेट एयरवेज के साथ-साथ मुकेश अंबानी कर्ज में डूबी एयर इंडिया को भी संकट से उबारने में रुचि दिखा रहे हैं। इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक जेट और एयर इंडिया दोनों ने पिछले वित्त वर्ष में तगड़ा घाटा झेला और दाेनों का टोटल मार्केट शेयर 25 फीसदी से भी कम रह गया है। 25 साल तक हवाई सेवा देने के बाद जेट एयरवेज को फंड की कमी के चलते बुधवार को अपने ऑपरेशंस अस्थायी तौर पर बंद करने पड़े। 

आसान होगा हिस्सेदारी लेना
एविएशन फील्ड में FDI के नियमों की बात करें तो 49 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने में एतिहाद को किसी परमिशन की जरूरत नहीं होगी। सिविल एविएशन में FDI के नियमों के मुताबिक NRI ऑटोमैटिक रूट के जरिए एयरलाइंस में 100 फीसदी तक का हिस्सेदारी ले सकते हैं।
 

Related Stories:

RELATED CFO, CEO के बाद जेट एयरवेज के सचिव ने भी दिया इस्तीफा