ये है चलती-फिरती मस्जिद, खासियत जानकार आपके मुंह से ज़रूर निकलेगा- माशा अल्लाह

मुम्बई:हिंदुस्तान में बाबरी मस्जिद को लेकर मुसलमानों ने कोहराम मचाने में कोई को कसर बाकी नहीं रखी। मस्जिद हिलाई नहीं जा सकती। दूसरी जगह बनाई नहीं जा सकती वगैरहा वगैरहा पर जापान ने चलती फिरती मस्जिदें ही बना डाली हैं। आश्चर्य की बात है कि ऐसी चलती-फिरती मस्जिदें इस्लाम को नहीं खलती हैं।
PunjabKesari
जापान ने 2020 के टोक्यो ओलिम्पिक को देखते हुए ये मोबाइल मस्जिदें बनाई हैं। इनमें एक बार 50 लोग नमाज अदा कर सकेंगे। इन्हें मुस्लिम दर्शकों और पर्यटकों के लिए बनाया गया है। इन्हें खेल के दौरान स्टेडियम के बाहर खड़ा किया जाएगा। इनमें वजू (हाथ धोने) करने के लिए वॉशिंग एरिया भी है। मोबाइल मस्जिद को टोक्यो स्पोर्ट्स और कल्चरल इवैंट्स कम्पनी ने बनाया है। कम्पनी के मुताबिक इन्हें बनाने का उद्देश्य जापान आने वालों को घर जैसा अहसास दिलाना है। 

मोबाइल मस्जिद प्रोजैक्ट के सी.ई.ओ. यसुहारु इनोउ ने कहा, ‘इस बात की आशंका है कि ओलिम्पिक देखने आने वाले मुस्लिम पर्यटकों के लिहाज से जापान में पर्याप्त मस्जिदें न हों, इसलिए हमने मोबाइल मस्जिदें बनाने का फैसला किया।  इनोउ ने बताया कि ट्रक के पिछले हिस्से में 48 वर्ग मीटर का कमरा बनाया गया है। इसमें आराम से 50 लोग नमाज अदा कर सकेंगे। एक अनुमान के मुताबिक जापान में करीब 2 लाख मुसलमान रहते हैं। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!