अगस्त महीने में UPI ने बना रिकॉर्ड, किए 30 करोड़ से ज्यादा ट्रांजैक्शन

नई दिल्लीः इंटरबैंक ट्रांजैक्शन सिस्टम यूनाइटेड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) ने अगस्त महीने में 30 करोड़ ट्रांजैक्शन का आंकड़ा पार कर लिया है। यूपीआई ट्रांजैक्शन सिस्टम को नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने डेवलप किया है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक यूपीआई के जरिए अगस्त में 31.2 करोड़ ट्रांजैक्शन हुए। यह डाटा एनपीसीआई की तरफ से जुटाया गया है। जुलाई के मुकाबले यूपीआई ट्रांजैक्शन की संख्या में अगस्त महीने में 32 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली है। जुलाई महीने में 23.56 करोड़ ट्रांजैक्शन दर्ज हुए थे। पिछले साल सितंबर में यूपीआई के जरिए 30 करोड़ ट्रांजैक्शन हुए थे, इस ट्रांजैक्शन की वैल्यू 5,292 करोड़ रुपए थी। वहीं इस साल अगस्त में डिजिटल प्लेटफॉर्म के जरिए 54,000 करोड़ रुपए का ट्रांसफर किया गया है। एनपीसीआई ने यूपीआई के अपग्रेड वर्जन यूपीआई 2.0 को मुंबई में पिछले महीने लॉन्च किया था।

कंपनी ने अपग्रेड वर्जन में कुछ सुधार किए थे, जिसमें ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी, वन टाइम मैंडेट, इनवॉइस इन द इनबॉक्स, और साइन इंटेंट एंड QR जैसी सर्विसें शामिल थी। इसके अलावा ट्रांजैक्शन लिमिट को बढ़ाकर 2 लाख रुपए कर दिया गया था। भारत में 11 ब्रांड हैं जो यूपीआई के अपडेट वर्जन को सपोर्ट करती है। इनमें स्टेंट बैंक ऑफ इंडिया, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, आईडीबीआई बैंक, आरबीएल बैंक, यस बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, इंडसइंड बैंक, फेडरल बैंक और एचएसबीसी जैसे बैंक शामिल हैं।

Related Stories:

RELATED 15 लाख कक्षाएं बनेगी डिजिटल : जावड़ेकर