ऑफ द रिकॉर्डः जब मोदी ने खड़गे को रिझाने का प्रयास किया

नेशनल डेस्कः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब विपक्षी नेताओं के साथ अपने व्यवहार में सुधार कर रहे हैं। गत मंगलवार को सर्वदलीय बैठक की समाप्ति के बाद मोदी ने देखा कि वरिष्ठ कांग्रेसी नेता मल्लिकार्जुन खड़गे धीरे-धीरे चल रहे हैं। मोदी ने उनसे कहा कि मेरे साथ आ जाओ। वह मीटिंग के बाद अपने घर जा रहे थे। खडग़े भी संसद भवन से बाहर जा रहे थे। मगर खड़गे ने हिंदी में एक छोटी कविता सुनाई जिसे सुनकर मोदी हैरान हुए।
PunjabKesari
खड़गे ने कहा ‘जब राजा हिलता है तो मुल्क हिलता है, जब काजी हिलता है तो दाढ़ी हिलती है और जब आपकी गाड़ी हिलेगी तो हम भी हिलेंगे’। खड़गे ने उनको बताया कि सुरक्षा के कारण प्रधानमंत्री को पहले आगे जाना होगा और तब ही अन्य सदस्य वहां से जा सकेंगे। इस बात को सुनकर समूचे गलियारे में हंसी के ठहाके लगे और मोदी ने इस कटाक्ष का आनंद लिया।

PunjabKesari

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!