प्रवासी दिवस के पहले दिन गंगा आरती देख प्रसन्न हुए मेहमान, कहा- काशी आना हुआ सफल

वाराणसीःधर्म की नगरी वाराणसी (Varanasi) में सोमवार से 3 दिवसीय प्रवासी भारतीय दिवस का आगाज हो गया है। प्रवासी दिवस के पहले दिन काशी के घाट, गलियां और दशाश्वमेध घाट (Dashashmandh Ghat) पर गंगा आरती (Ganga aarti) देखकर मेहमान प्रसन्न हो गए। प्रवासी भारतीयों के मुंह से अद्भुत और अलौकिक निकल पड़ा।

दर्शन करने पहुंचे शाजिथ बाबू, हरिदशन, कृष्ण कुटी नैयर और तुलसी नैयर ने कहा कि जितना काशी के बारे में सुना था उससे कहीं ज्यादा देखने को मिला। इस सम्मेलन में आना सफल हो गया। मेहमानों के लिए रेड कारपेट बिछी गलियों के रास्ते बाबा दरबार में पहुंचकर प्रवासियों ने मत्था टेका और सुखद जीवन की मंगलकामना की। मेहमानों के लिए ललिता घाट पर हेल्प डेस्क के साथ सुगम दर्शन हेतु अस्थाई काउंटर लगाया गया है। गलियों से मंदिर तक इलेक्ट्रानिक झालरों से सजाया गया है। रेड कॉरपेट से होते हुए गलियों व मंदिरो को देखते हुये मंदिर तक पहुंचे। जहां सभी ने अतिथियों का स्वागत किया और प्रसाद दी।

बता दें कि, गंगा तट पर आरती से रविवार शाम प्रवासी भारतीय सम्मेलन का शुभारंभ हो गया था, लेकिन इसकी औपचारिक शुरुआत सोमवार को हुई है। प्रवासियों को टेंट सिटी में बने अत्याधुनिक स्विस काटेज, होटलों एवं निजी घरों में ठहराया गया है। प्रवासियों के स्वागत में पूरी काशी सजी हुई है। घाटों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित हैं।

Related Stories:

RELATED राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का प्रयागराज दौरा, Kumbh मेले में पत्नी संग की गंगा आरती