मेहुल चोकसी ने भारत न आने के गिनाए कई बहाने, कोर्ट को सौंपी बीमारियों की लंबी लिस्ट

बिजनेस डेस्कः भारत से करोड़ों रुपए लेकर भागे कारोबारी मेहुल चोकसी भारत वापिस न आने के कई बहाने बना रहा है। चोकसी ने मुंबई के पीएमएल कोर्ट में अर्जी देकर कहा है कि वह अपनी खराब सेहत की वजह से यात्रा कर पाने में असमर्थ है, लिहाजा उसे कोर्ट में पेश होने से छूट दी जाए। अदालत को दी गई एक मेडिकल रिपोर्ट में उसने कहा कि उसके दिमाग में खून का थक्का जमा हुआ है, उसे हाइपर टेंशन है, इसके अलावा उसे पैरों में भी दर्द है, साथ ही वह डायबिटीज का भी मरीज है।

अदालत के सामने रखी लंबी बीमारियों की लिस्ट 
पीएनबी घोटाले में मेहुल चोकसी पर देश का करोड़ों रुपया लेकर फरार होने का आरोप है। मेहुल चोकसी ने अदालत के सामने अपनी लंबी बीमारियों की लिस्ट सामने रखी है। इन बीमारियों में दिल की बीमारी, दिमाग की बीमारी, मोटापा, सांस लेने में परेशानी जैसी बीमारियां, आर्थराइटिस शामिल हैं।

रिपोर्ट की मानें तो उसके दाहिने पैर में लंबे समय से दर्द है। इसकी वजह से उसे चलने फिरने में परेशानी है। इसके लिए उसने रेडियोग्राफी रिपोर्ट अदालत में पेश की है। पीएनबी स्कैम में जांच का सामना कर रहे मेहुल चोकसी ने पेट का अल्ट्रासाउंड भी अदालत में पेश किया है।

सफर करने से किया इंकार
मेहुल चोकसी ने डॉक्टरों के टेस्ट रिपोर्ट का हवाला देकर कहा है कि डॉक्टरों ने खराब सेहत देखते हुए उसे कहा है कि वो एंटीगुआ में लगातार मेडिकल सुपरविजन में रहे और किसी तरह का सफर न करे। मेहुल चोकसी की मेडिकल रिपोर्ट के मुताबिक डॉक्टरों ने उसकी हॉर्ट सर्जरी की है और उसे स्टेंट (Stents) लगाया गया है। मेहुल चोकसी ने अपने एमआर एंजियोग्राम की रिपोर्ट भी कोर्ट में पेश की है।

अदालत में पेश किए गए एक रिपोर्ट के मुताबिक डॉक्टरों ने मेहुल चोकसी की ब्रेन एमआरआई देखने के बाद कहा है कि उसे 3 से लेकर 4 महीने तक सफर करने से बचना चाहिए। रिपोर्ट के मुताबिक मेहुल चोकसी को मोटापे की बीमारी है और उसका मोटापा लेवल-थ्री स्तर तक पहुंच चुका है। इसके अलावे वह हाइपरटेंशन, दिल की बीमारी, डायबिटीज से भी जूझ रहा है।

Related Stories:

RELATED बैंकों द्वारा मेहुल चोकसी की कंपनी गीतांजलि ज्वेलर्स को बंद करने का निर्णय