माता मनसा देवी सिंह द्वार के नजदीक खुले ठेके पहुंचा रहे धार्मिक भावनाओं को ठेस

चंडीगढ़(अर्चना) :माता मनसा देवी सिंह द्बार और मस्जिद के नजदीक बने शराब के ठेके स्थानीय बाशिंदों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचा रहे हैं। स्थानीय बाशिंदों ने न सिर्फ हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण बल्कि एक्साइज एवं टैक्सेशन विभाग के आला अधिकारियों से गुहार लगाई है कि शराब के  ठेके लोगों की आस्था से जुड़े गलियारों से बाहर कर दिया जाए। 

एक दशक पहले भी माता मनसा देवी द्बार के नजदीक खुले शराब के ठेके को लेकर तनाव बढ़ गया था। मामला इतना गर्मा गया था कि स्थानीय बाशिंदों ने न्यायालय तक का दरवाजा खटखटाया था। मामले के तूल पकडऩे के बाद कई साल ठेके को द्बार से दूर रखा गया लेकिन एक साल पहले विभाग ने यहां शराब के ठेके को खोलने की इजाजत दे दी थी। 

बाशिंदों का कहना है कि माथा टेकने के लिए लोगों को इसी द्बार से अंदर जाना होता है और लोगों की धार्मिक आस्था का ध्यान रखते हुए दोबारा सिंह द्बार के नजदीक किसी भी शराब के ठेके को खोलने की स्वीकृत्ति न दी जाए। सिर्फ इतना ही नहीं पंचकूला में खुले अवैध शराब के ठेकों को लेकर कई राजनीतिक दलों ने भी प्राधिकरण का दरवाजा खटखटा दिया है।

दूर किए जाएं धार्मिक परिसरों से ठेके :
मनसा देवी रैजीडैंट वैल्फेयर एसोसिएशन के प्रधान देवेंद्र महाजन का कहना है कि शराब के ठेकों को धार्मिक परिसरों से दूर करना चाहिए। एक तरफ तो सिंह द्बार पर लिखा जा रहा है माता मनसा देवी, वहीं उसी द्बार के नजदीक शराब के ठेकों को मंजूरी दी जा रही है। 

माता मनसा देवी और सकेतड़ी के महादेव मंदिर में मात्था टेकने श्रद्धालु इसी द्बार को पार करते हैं। पैसा कमाने के लिए एक्साइज एंड टैक्सेशन विभाग कहीं भी ठेकों को मंजूरी दे दे लेकिन इसका ध्यान रखा जाए कि ठेका कहां आबंटित किया जा रहा है। महाजन ने कहा कि सिर्फ मंदिर ही नहीं बल्कि पास एक मकाार भी है जिसके पास शराब का ठेका चल रहा है। विभाग को धार्मिक भावनाओं का ख्याल जरूर रखना चाहिए।

अवैध शराब के ठेकों की बढ़ रही है संख्या :
विधायक ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि पंचकूला में अवैध और अनाधिकृत्त तौर पर चलने वाले शराब के ठेकों की संख्या बढ़ रही है। 15 से 20 ऐसे शराब के ठेके हैं जिसको खोलने के लिए ठेकेदारों ने मंजूरी नहीं ली है। लोगों ने अपनी मर्जी से टीन की छत्तें डालकर ठेके खोल लिए हैं और उनका नामकरण भी आसपास के पांच सितारा होटलों को ध्यान में रखते हुए रख दिया है। 

उन्होंने अवैध तौर पर चलने वाले शराब के ठेकों के खिलाफ हुड्डा के अधिकारियों और एक्साइज एंड टैक्सेशन विभाग को चिट्ठी लिख कर कार्रवाई करने की मांग की है, ताकि स्कूलों के 100 मीटर दायरे व धार्मिक परिसर सुरक्षित रह सकें। उनका कहना है कि एक्साइज एंड टैक्सेशन विभाग को खुद की बिल्डिंग बनाकर उसी में शराब के परमानैंट ठेकों को जगह देनी चाहिए। 

उनकी आबंटन व पुन: आबंटन करते रहना चाहिए परंतु जगह में बदलाव नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से न अवैध शराब के ठेके खुलेेंगे और न ही स्कूल व मंदिरों के नजदीक कोई अनाधिकृत्त ठेका शुरु किया जा सकेगा। गुप्ता का कहना है कि वह भी इस पक्ष में बिल्कुल नहीं हैं कि मनसा देवी सिंह द्बार के नजदीक या फिर किसी मस्जिद के करीब शराब के ठेका बनाया जाए। इसको लेकर वह जल्द ही संबंधित अधिकारियों से मुलाकात करेंगे।

Related Stories:

RELATED शराब के ठेके पर फायरिंग करके लूटी नगदी