मराठा आंदोलन: युवक ने की खुदकुशी, मरने से पहले लिखा- आज एक मराठा जा रहा है

नेशनल डेस्क:मराठा आरक्षण को लेकर आंदोलन की आग एक बार फिर भड़क गई। सोमवार को कई हिस्सों में आगजनी की घटनाएं सामने आई। वहीं इसी बीच एक व्यक्ति ने चलती ट्रेन के सामने छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली। 35 वर्षीय प्रमोद जयसिंह होरे ने रविवार को फेसबुक और व्हाट्सऐप पर लिखा कि वह आरक्षण की मांग के समर्थन में अपनी जान दे देगा जिसके बाद उसने मुकुंदवाड़ी क्षेत्र में चलती ट्रेन के सामने कथित रुप से छलांग लगा दी। 


महाराष्ट्र लोक सेवा आयोग की परीक्षा की तैयारी में जुटे जयसिंह ने मरने से पहले अपने फेसबुक अकाउंट पर लिखा कि आज एक मराठा जा रहा है, और अपने जीवन को मराठा आंदोलन के लिए कुर्बान कर रहा है ..लेकिन मराठा आरक्षण के लिए कुछ कीजिए। उसके कई दोस्तों ने उससे ऐसा नहीं करने का अनुरोध किया लेकिन उसने किसी की भी नहीं सुनी।


खबरों के मुताबिक पाटिल बिना बताए घर से निकल गया था और जब काफी देर तक घर नहीं पहुंचा तो घरवालों ने उसकी छानबीन शुरू कर दी। काफी ढूंढने पर भी जब पाटिल नहीं मिला तो पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई। छानबीन में पाटिल का शव रेल की पटरी पर मिला। वहीं जयसिंह की मौत के बाद परिजनों ने खूब हंगामा किया। उसके परिजन ने कहा कि वे तब तक शव नहीं उठाएंगे जब तक राज्य सरकार आरक्षण के मुद्दे पर अंतिम निर्णय नहीं ले लेती। 


बता दें कि महाराष्ट्र में मराठा लोगों के लिए आरक्षण की मांग को लेकर पिछले काफी दिनों से आंदोलन हो रहा है। इससे पहले 28 साल के युवक काकासाहब शिंदे ने गोदावरी नदी में कूदकर आत्महत्या कर ली थी। शिंदे ने भी अपनी मौत का कारण आंदोलन को बताया था। मराठों को आरक्षण देने की मांग को लेकर पिछले दिनों महाराष्ट्र बंद का भी ऐलान किया गया था।

Related Stories:

RELATED मराठा आरक्षण के लिए 11वीं की छात्रा ने लगाई फांसी, सुसाइड नोट में लिखीं दर्दनाक बातें