दो बहनों ने छुड़ा दिए बदमाशों के छक्के,  मुंह पर मारे घूंसे

सेंट्रल दिल्ली(ब्यूरो): पर्स लूटकर भाग रहे बदमाश की शर्ट पकड़कर दो सगी बहनों ने धर दबोचा। मामला नबी करीम स्थित मुल्तानी ढांडा मार्केट का है। दोनों बहनें बर्थ-डे केक ऑर्डर करने के लिए यहां आयी थीं। पब्लिक ने मौके पर पकड़े गए आरोपी की पिटाई कर मामले की सूचना पुलिस को दी। तुरंत मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया और उसके साथी की तलाश कर रही है। युवती से लूटा गया मोबाइल भी बरामद हो गया। पकड़े गए आरोपी की पहचान राम मनोहर मिश्रा (30) के रूप में हुई है। फिलहाल नबी करीम थाना पुलिस जांच में जुटी है। 

निजी कंपनी में नौकरी करती है तान्या
एडिशनल डीसीपी अमित कुमार ने कहा कि बहादुर बहनों को पुलिस की ओर से पुरस्कृत किया जाएगा। पब्लिक भी अगर अपराधियों का मुकाबला करती है तो अपराधियों की हिम्मत टूटती है। तान्या शर्मा (22) व वृंदा (20) सपरिवार मुल्तानी ढांडा रहती हैं। तान्या डीयू से ग्रेजुएशन के बाद निजी कंपनी में नौकरी करती है। जबकि वृंदा डीयू से बीकॉम की पढ़ाई कर रही है। परिवार में पिता आलोक शर्मा और मां ममता शर्मा है। वीरवार को तान्या का 23वां जन्म दिन था। सेलिब्रेट की तैयारियों के लिए दोनों बहनें बुधवार रात को करीब 8 बजे मार्केट के लिए निकली थीं। जहां केक का ऑर्डर करना था साथ ही कुछ गिफ्ट आइटम खरीदने थे। जब वे बीकानेर स्वीट्स के सामने पहुंची। इसी दौरान एक युवक पास आकर खड़ा हो गया। 

वृंदा ने मारा आरोपी के मुंह पर घूंसा 
तान्या के हाथ से पर्स लूटकर भागने लगा। हिम्मत दिखाते हुए वृंदा ने उसके मुंह पर घूंसा मारा। तभी तान्या ने फुर्ती से पकडऩे की कोशिश की तो हाथ से मोबाइल गिर गया। आरोपी पर्स की बजाय मोबाइल उठाकर बाइक की तरफ दौड़ा तो, तान्या और वृंदा उसके पीछे शोर मचाते हुए भागीं। उसका कॉलर पकड़कर नीचे गिरा लिया और उसका साथी पास में खड़ी बाइक पर बैठकर मौके से फरार हो गया। तान्या और वृंदा ने उसको मौके पर ही दबोचे रखा। इस बीच घर पर फोन किया। तुरंत मां ममता भी पहुंच गई। मौके पर मौजूद पब्लिक ने आरोपी की पिटाई कर मामले की सूचना पुलिस को दी। मोबाइल बरामद कर उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस की मानें तो दोनों बहनों ने गजब की बहादुरी दिखाई है। इसी तरह पब्लिक को लूटपाट करने वाले बदमाशों को मुंह तोड़ जवाब देना चाहिए। फिलहाल कोर्ट में पेश कर पुलिस ने आरोपी को जेल भिजवा दिया।

Related Stories:

RELATED पाकिस्तान के हनीट्रैप में फंसा एक और भारतीय जवान, ISI के लिए करता था जासूसी