शिकागो दौरा रद्द होने पर बोली ममता- यह मोदी सरकार की साजिश

नेशनल डेस्क: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपनी शिकागो की प्रस्तावित यात्रा रद्द किये जाने को ‘नापाक साजिश’ बताया। स्वामी विवेकानंद के शिकागो में ऐतिहासिक भाषण की 125वीं वर्षगांठ के मौके पर रामकृष्ण मिशन की ओर से बेलुर मठ में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने मोदी सरकार पर जमकर भड़ास निकाली। 

सहिष्णुता हिंदू धर्म का गुण 
कार्यक्रम में ममता ने कहा कि सहिष्णुता हिंदू धर्म का एक गुण है वह सर्वव्यापी है हिंदू धर्म लोगों से प्रेम करना सिखाता है, न कि भेदभाव। आगे आयें और देश में नयी जागृति का नेतृत्व करें। उन्होंने कहा कि वह शिकागो जाना चाहती थी लेकिन दुर्भाग्य से उस जगह नहीं जा सकी जहां स्वामीजी ने ऐतिहासिक भाषण दिया था। इसके पीछे गहरी साजिश रची गयी थी। सीएम ने किसी का नाम लिए बीना कहा कि कुछ लोग चाहते थे कि मैं वहां न जाऊं। मैं आशा करती हूं कि जिन ताकतों ने मुझे वहां जाने से रोका वे स्वामी विवेकानंद के भाषण को पढ़ेंगे।

रामकृष्ण मिशन ने ममता को किया था आमंत्रित
बता दें कि रामकृष्ण मिशन ने मुख्यमंत्री को शिकागो के एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था। कार्यक्रम को हालांकि अपरिहार्य परिस्थितियों में जून में रद्द कर दिया गया। सुश्री बनर्जी ने कहा कि स्वामी विवेकानंद, गुरु रवीद्रनाथ टैगोर और नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने धर्म और राजनीति को लेकर जो आदर्श अपनाये थे, उनमें काफी समानता थी। उन्होंने कहा कि स्वामीजी ने 1893 में शिकागो के भाषण में सबका दिल जीत लिया था।  

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED स्वामी विवेकानंद के भाषण को स्कूली पाठ्यक्रम में किया जाएगा शामिल