Kundli Tv- चंद्रग्रहण: राजनीतिक दलों में आएगा जलजला

ये नहीं देखा तो क्या देखा (देखें VIDEO)

104 साल बाद सदी के सबसे लंबे चंद्रग्रहण का दुर्लभ योग 27 जुलाई को पड़ने जा रहा है। चंद्रग्रहण के शुरू होने से तथा समाप्त होने का समय लगभग 4 घंटे का होगा।  


चंद्रग्रहण 27 जुलाई को मध्य रात्रि 11.55 बजे शुरू होगा। इसका मोक्ष काल अर्थात 28 जुलाई की सुबह 3.39 बजे तक रहेगा। इस ग्रहण को कम से कम 3 महादीपों में स्पष्ट रूप से देखा जा सकेगा। करनाल के ज्योतिषी पं. वेद प्रकाश जवाली ने कहा कि पूर्ण चंद्रग्रहण के दौरान चांद जब धरती की छाया में रहता है तो उसकी आभा रक्तिम हो जाती है, जिसे रक्तिम चंद्र या लाल चांद कहते हैं। उन्होंने कहा कि ग्रहण के दौरान परमात्मा का स्मरण, किसी मंत्र की सिद्धि, रोगों को दूर करने के लिए पूजा-पाठ करने से शुभ फल प्राप्त होते हैं। ग्रहण का सूतक 27 जुलाई को दोपहर 2.54 बजे शुरू हो जाएगा। 


उन्होंने कहा कि ग्रहण के कारण भारतीय राजनीति में जलजला आएगा व नेताओं के दलबदल करने की बड़ी संभावना है। यह ग्रहण भारत के अलावा एशिया, यूरोप, दक्षिण अमरीका, अफ्रीका, आस्ट्रेलिया व एटलांटिक महासागर में अलग -अलग रूपों में दिखाई देगा। 


उन्होंने कहा कि कंधार, कश्मीर, चीन आदि स्थानों पर राजनीतिक व प्राकृतिक प्रकोपों से जन धन की हानि हो सकती है। कुछ स्थानों पर अधिक बारिश से बाढ़ की स्थिति बनेगी। यह ग्रहण मकर राशि में लग रहा है जोकि डाक्टरों के लिए या औषधि से संबंधित कार्य करने वालों के लिए भारी रहेगी। 

Kundli Tv- यहां मिलेगी चार्तुमास से जुड़ी हर एक जानकारी

Related Stories:

RELATED Kundli Tv- LOVER को वश में करने के लिए सोमवार को करें ये टोटका