Kundli Tv- कैसे एक राक्षस बना बप्पा का वाहन

ये नहीं देखा तो क्या देखा (देखें VIDEO)

प्राचीन समय में एक बहुत भयानक असुर जिसका नाम गजमुख था। वह सबसे शाक्तिशाली, धनवान और सब देवताओं को अपने वश में करना चाहता था इसलिए उसने वरदान पाने के लिए भगवान शिव की तपस्या करनी शुरु कर दी। कुछ साल बीतने के बाद भगवान भोलेनाथ उसके तप से खुश होकर उसके सामने प्रकट हुए और उसे वरदान के रुप में दैविक शक्तियां प्रदान की जिससे कोई भी उसे किसी शस्त्र से नहीं मार सकता था। 


कुछ समय के बाद गजमुख को अपनी शाक्ति पर गर्व हो गया। उसने सब देवों पर आक्रमण कर दिया। केवल त्रिदेव और भगवान गणेश ही उसके आंतक से बचे हुए थे। सभी देवता भगवान शिव के पास गए और अपने जीवन को बचाने के लिए प्रार्थना करने लगे। भोलेनाथ ने गणपति जी को गजमुख को सबक सीखाने के लिए भेजा। 

बप्पा ने उस असुर के साथ बहुत समय तक युद्ध किया, किंतु गजमुख भी पीछे हटने वालें में से नहीं था। तभी उसने एक मूषक का रुप ले लिया और गणेश जी की तरफ जैसे ही वह आक्रमण करने के लिए दौड़ा भगवान कूद कर उसके उपर सवार हो गए। 

गणपति जी ने जीवन भर के लिए मूषक में बदल दिया और अपने वाहन के रुप में रख लिया। गजमुख भी अपने इस रूप से खुश हुआ और गणेश जी की सवारी बन कर वह खुद को भाग्यशाली समझने लग गया था।  

राशि अनुसार सावन में करें ये काम, फिर देखें भोले का चमत्कार (देखें VIDEO)

Related Stories:

RELATED Kundli Tv- जब वृंदावन की चींटियां के लिए संत के मन में जागा प्यार...