लोकसभा चुनावः सीटों पर दावेदारी के लिए दिल्ली कांग्रेस के नेताओं में मची होड़

नई दिल्लीः आम आदमी पार्टी (आप) के साथ गठबंधन की संभावनाएं लगभग खत्म होने के बीच आगामी लोकसभा चुनाव के लिए राष्ट्रीय राजधानी की सात सीटों पर दिल्ली कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता दावेदार के रूप में सामने आए हैं। कांग्रेस की दिल्ली प्रदेश इकाई की अध्यक्ष शीला दीक्षित ने कहा कि पार्टी नेताओं से कई आवेदन प्राप्त हुए हैं लेकिन टिकटों के वितरण पर उनके जीतने की क्षमताओं के आधार पर फैसला लिया जायेगा।

कांग्रेस के अंदरूनी सूत्रों का कहना है कि दिल्ली कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अजय माकन स्थानीय नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ बैठकें कर नई दिल्ली लोकसभा सीट के लिए कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व सांसद महाबल मिश्रा की नजर पश्चिमी दिल्ली सीट पर है लेकिन कांग्रेस इस सीट से किसी जाट उम्मीदवार संभवत: योगानंद शास्त्री को उतार सकती है।

दिल्ली कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘‘लगभग सभी सात लोकसभा सीटों पर, कई वरिष्ठ नेता दावा कर रहे हैं क्योंकि यह लगभग स्पष्ट है कि कांग्रेस आगामी चुनाव में आप के साथ गठबंधन नहीं करेगी।’’ कांग्रेस की दिल्ली इकाई के मुख्य प्रवक्ता पद से इस्तीफा देने वाली र्शिमष्ठा मुखर्जी ने लोकसभा चुनाव लडऩे की इच्छा जताई है।

कांग्रेस नेता का कहना है कि मुखर्जी चांदनी चौक सीट से उम्मीदवार हो सकती हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व केन्द्रीय मंत्री कपिल सिब्बल, शोएब इकबाल और हारून यूसुफ चांदनी चौक से अन्य दावेदार हैं। दिल्ली कांग्रेस की चुनाव समिति की सोमवार को बैठक होगी जिसमें पार्टी नेताओं के आवेदनों पर विचार विमर्श किया जायेगा।

Related Stories:

RELATED लोकसभा चुनाव की डगर नहीं आसान, कई दिग्गज नेताओं को मिल चुकी हार